Monday , June 25 2018

धोकादेही मुआमला में हिंदुस्तानी नज़ाद ख़ातून बरी

एक हिंदुस्तानी नज़ाद ख़ातून को जिस ने एक पुलिस ऑफीसर के साथ हादसा के शिकार अफ़राद की तफ़सीलात हासिल करने और उसे फ़रोख़्त करने के जुर्म का इर्तिकाब किया था, ज्यूरी की जानिब से कोई फ़ैसला ना किए जाने पर बरी करदी गई।

एक हिंदुस्तानी नज़ाद ख़ातून को जिस ने एक पुलिस ऑफीसर के साथ हादसा के शिकार अफ़राद की तफ़सीलात हासिल करने और उसे फ़रोख़्त करने के जुर्म का इर्तिकाब किया था, ज्यूरी की जानिब से कोई फ़ैसला ना किए जाने पर बरी करदी गई।

26 साला परमजीत कौर पर इल्ज़ाम था कि उस ने अपने शौहर रज़ा ख़ान और उस की महबूबा साबिक़ पुलिस ऑफीसर सुग़रा हनीफ़ के साथ एक अवामी दफ़्तर में नारवा सुलूक किया था।

वेन्चस्टर कराउन कोर्ट ने रज़ा ख़ान और सुग़रा हनीफ़ को क़सूरवार क़रार दिया था। इसी साज़िश के बारे में ज्यूरी ने जनवरी 2011 में समाअत शुरू की थी। ख़ान और कौर का दावा है कि उन्हें ये मालूम नहीं था कि जो डेटा वो लोग जमा कर रहे हैं वो गै़र क़ानूनी है।

TOPPOPULARRECENT