Wednesday , November 22 2017
Home / AP/Telangana / धोकाबाज़ मरद-ओ-ख़वातीन से दोस्ती महंगी भी पड़ सकती है

धोकाबाज़ मरद-ओ-ख़वातीन से दोस्ती महंगी भी पड़ सकती है

हैदराबाद 13 अगस्त:साइबर धोका दही के वाक़ियात में आए दिन ज़बरदस्त इज़ाफ़ा हुआ है। जिसका अंदाज़ा भारी रक़म पर मुश्तमिल लाटरी जीतने, शादी के लिए रिश्तों, बड़ी कंपनीयों और बैंक्स में मुलाज़िमतों के नाम झानसों के बारे में अख़बारात में रोज़मर्रा शाय होने वाली ख़बरों से लगाया जा सकता है।

इस दौरान दोस्ती, नई लड़कीयों से दोस्ती के नाम पर झांसे का एक नया रोहजान देखा जा रहा है। लड़कीयों से दोस्ती के नाम पर आए दिन मोबाईल पर हमा इक़साम के एसएमएस मौसूल हो रहे हैं। लेकिन एसे पैग़ामात का जवाब देने या पैग़ामात की बुनियाद पर दोस्ती करने के अवाक़िब और नताइज से चौकस-ओ-ख़बरदार रहने की ज़रूरत है। मोबाईलस पर आए दिन कुछ इस किस्म के पैग़ामात मौसूल होने लगे हैं: नई ख़ातून दोस्त, नए एहसासात, नए अंदाज़, नई चैटिंग ( गपशप ) सिर्फ़ नए नंबर पर काल कीजिए।

इस नंबर पर.. एक और एसएमएस: इंतेहाई रुमानवी शख़्स आपके शहर में बात कीजिए इस नंबर.. पर एक और पैग़ाम में कुछ इस तरह लिखा गया है: उम्मीद कि आपको मेरा एक नंबर …. दिया जा चुका है। मुझे आपके नाम का इंतेज़ार है। लेकिन आपका काल मौसूल नहीं हुआ। उम्मीद कि आप मुझे याद रखेंगे। चुनांचे ये फ़रेब झानसों और धोका दही के इस ज़माने में किसी को पता नहीं कि ये दोस्त कौन हैं और जब उन्हें आप जवाब देंगे और चैटिंग में आप अपनी शख़्सी तफ़सीलात का अगर इन्किशाफ़ करेंगे तो इस का अंजाम क्या होगा।

TOPPOPULARRECENT