Sunday , January 21 2018

धोखेबाज हैं नीतीश : लालू

राजद सरबराह लालू प्रसाद ने कहा कि इस बार 1977 की तरह हवा है। पूरे बिहार के लोग इकट्ठा हैं। फिरकापरस्त ताकतों को मुल्क तोड़ने नहीं देंगे। बिहार लालू की धरती है, यहां नरेंद्र मोदी जैसी फिरकापरस्त ताकतों को फटकने नहीं देंगे। साबिक़ वजीर

राजद सरबराह लालू प्रसाद ने कहा कि इस बार 1977 की तरह हवा है। पूरे बिहार के लोग इकट्ठा हैं। फिरकापरस्त ताकतों को मुल्क तोड़ने नहीं देंगे। बिहार लालू की धरती है, यहां नरेंद्र मोदी जैसी फिरकापरस्त ताकतों को फटकने नहीं देंगे। साबिक़ वजीरे आला शरीक राजद सरबराह लालू प्रसाद यादव सनीचर को कटोरिया के हाई स्कूल और पीरपैंती के प्रगति मैदान में इंतिखाबी सभा को खिताब कर रहे थे।

उन्होंने बांका लोकसभा सीट से राजद उम्मीदवार शरीक साबिक़ मर्कज़ी वज़ीर जयप्रकाश नारायण यादव को लालटेन छाप पर बटन दबा कर भारी वोटों से जीत पक्की करने की लोगों से दरख्वास्त की। वजीरे आला नीतीश कुमार पर बरसते हुए लालू प्रसाद ने कहा कि नीतीश कुमार धोखेबाज हैं। अगर पहले आवाम कि नीतीश बबूल का पेड़ निकलेंगे, तो पहले ही गरम पानी डाल कर उसे सूखा दिया होता। उन्होंने कहा कि लालू को हराने के लिए ही भाजपा-जदयू के दरमियान लव मैरेज हुआ था। लालू राज में गरीबों का राज था।

नीतीश राज में अफसरों और पुलिस का मन बढ़ा है। एमएलए या मुखिया की कोई इज्जत नहीं है। गली-मुहल्ले में गरीबी, लाचारी और बदउनवानी फैला हुआ है। बिना रिश्वत के कोई काम नहीं हो रहा। अफसर खुल्लम-खुल्ला रिश्वत मांगते हैं। तहरीक करने पर नीतीश राज में लाठी व गोली बरसायी जाती है। उन्होंने कहा कि मुखालिफीन कहते हैं कि लालू यादव कमजोर हो गये हैं। लालू जेसीबी मशीन है, जो कोड़-कोड़ कर सबको घुमा-घुमाके फेंक देगा। उन्होंने कहा कि बिहार में 27 सीटों से राजद, 12 सीटों से कांग्रेस व 1 सीट पर एनसीपी के उम्मीदवार इंतिख़ाब लड़ रहे हैं। तमाम सीटों पर राजद-कांग्रेस व एनसीपी इत्तीहाद के ही उम्मीदवार रिकॉर्ड वोटों से जीतेंगे।

इस मौके पर साबिक़ विधान पार्षद राकेश रंजन, राजद रियासती जेनरल सेक्रेटरी स्वीटी सीमा हेंब्रम, राजद लीडर ओमप्रकाश गुप्ता, सत्तन यादव, साबिक़ प्रमुख बेचु यादव, भूदेव यादव, प्रमोद यादव, अनंत राय, प्रमोद राउत, अर्जुन ठाकुर, जिला पार्षद मीठन यादव, दिनेश ठाकुर, चिरंजीवी यादव, बमबम यादव, जागेश्वर मरांडी, तुलसी रजक, आशुतोष कृपामूर्ति, सुकलाल बेसरा, अशोक यादव, गिरधारी पंडा, नरेश तांती, चुनचुन यादव, शिवशंकर दास, मुकेश यादव, कैलाश यादव, सुरेंद्र यादव, राजीव पासवान, बिट्टु कुमार, मीर अख्तर अली, गुलाम अंसारी, मुफ्ती तौहिद आलम, अविनाश यादव, मनोज यादव, रंधीर सिंहा, कालेश्वर यादव, कांग्रेसी नेता महेश्वरी यादव, आशुतोष यादव, राजीव कुमार गुप्ता वगैरह मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT