Tuesday , January 23 2018

नई अमरीकी पाबंदीयां गै़र क़ानूनी हैं – ईरान

ईरान ने अक्तूबर और नवंबर में मीज़ाईलों के तजुर्बात किए थे। अक़वामे मुत्तहिदा ने कहा था कि अक्तूबर में किया जाने वाला तजुर्बा सलामती कौंसिल की उस क़रारदाद की ख़िलाफ़वर्ज़ी करता है जिसमें ईरान पर बैलिस्टिक मिज़ाइल की तैयारी पर पाबंदी आइद की गई है।

ईरान ने पीर को कहा है कि इस के बैलिस्टिक मिज़ाइल प्रोग्राम से मुताल्लिक़ नई अमरीकी पाबंदीयां गै़र क़ानूनी हैं क्योंकि अमरीका मशरिक़े वुस्ता में हथियार फ़रोख्त करता है।

ईरानी वज़ारते ख़ारजा के तर्जुमान हुसैन जाबरी अंसारी ने टैलीविज़न पर नशर होने वाली एक न्यूज़ कान्फ़्रैंस में कहा कि ईरान के बैलिस्टिक मिज़ाइल प्रोग्राम के ख़िलाफ़ अमरीकी पाबंदीयों का कोई क़ानूनी या अख़लाक़ी जवाज़ मौजूद नहीं। अमरीका हर साल इलाक़े के मुल्कों को टनों के हिसाब से असलहा फ़रोख्त करता है।

ये असलहा फ़लस्तीनी, लेबनानी और हालिया महीनों में यमनी शहरीयों के ख़िलाफ़ जंगी जराइम में इस्तेमाल किया जाता है। याद रहे कि अमरीका ने ईरान की तरफ़ से एक बैलिस्टिक मिज़ाइल का तजुर्बा करने के बाद उस पर नई पाबंदीयां आइद कर दी हैं।

TOPPOPULARRECENT