Monday , December 18 2017

नक्सलाइटस की यरग़माल बनाने की हुकूमत अमली से मुश्किलात में इज़ाफ़ा

मुल्क में गुज़श्ता तीन बरसों में नकसलाईट तशद्दुद में 2684 अफ़राद हलाक हुए हैं, जिन में 805 सैक्योरिटी जवान भी शामिल हैं ।

मुल्क में गुज़श्ता तीन बरसों में नकसलाईट तशद्दुद में 2684 अफ़राद हलाक हुए हैं, जिन में 805 सैक्योरिटी जवान भी शामिल हैं ।

इस के साथ ही हाल ही में नक्सलियों के ज़रीया अहम लोगों को यरग़माल बनाकर अपने मुतालिबात मनवाने की नई हिक्मत-ए-अमली से संगीन सूरत-ए-हाल पैदा होगई है ।

नक्सलाइटस की इस नई हुकूमत अमली से ना सिर्फ तशद्दुद के वाक़ियात में इज़ाफ़ा हुआ है बल्कि इस में हुकूमत को संजीदगी से ग़ौर करने पर भी मजबूर करदिया है।इसी वजह से मरकजी वज़ीर-ए-दाख़िला पी चिदम़्बरम ने अपने महिकमे के आफ़िसरान को नक्सलाइटस की इस नई हुकूमत अमली से निमटने के लिए तदाबीर करने का हुक्म दिया है।

सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक़ मलिक के नक्सलाइटस की इंतिहापसंदी से मुतास्सिरा 9 रियास्तों झारखंड, छत्तीसगढ़, मग़रिबी बंगाल, उड़ीसा, बिहार, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश और मग़रिबी बंगाल में रवां साल के चार महीनों में ही नक्सलाइटस तशद्दुद में 162 अफ़राद हलाक होचुके हैं, जिन में 61 सैक्योरिटी मुलाज़िम भी शामिल हैं

TOPPOPULARRECENT