Wednesday , December 13 2017

नक्सलाईटस से मुतास्सिरा इलाक़ों में नौजवानों पर तवज्जे

फ़न्नी महारतों में इज़ाफ़ा, हुकूमत का मंसूबा, फ़िक्की पर आलमी महारतें चोटी कान्फ्रेंस

फ़न्नी महारतों में इज़ाफ़ा, हुकूमत का मंसूबा, फ़िक्की पर आलमी महारतें चोटी कान्फ्रेंस

हुकूमत ने आज शोबा सनअत से अपील की कि वो बाएं बाज़ू की इंतेहापसंदी से मुतास्सिरा इलाक़ों और शुमाल मशरिक़ी रियासतों में नौजवानों की फ़न्नी महारतों को फ़रोग़ देने पर तवज्जे मर्कूज़ करे। वज़ीर-ए-ममलकत बराए फ़रोग़ महारतें-ओ-सनातकारी सरबननदा सोनोवाल ने फ़िक्की के ज़ेर-ए‍-एहतेमाम आलमी महारतें चोटी कान्फ्रेंस का इफ़्तेताह करते हुए शोबा सनअत पर ज़ोर दिया कि वो सलाहीयतों की शनाख़्त के लिए ही नहीं बल्कि तरजीही बुनियादों पर रोज़गार की फ़राहमी, तनख़्वाहों में इज़ाफ़ा और कंपनीयों में मुलाज़मीन केलिए ऐसा माहौल पैदा करने केलिए ज़ोर दिया जिस में मुलाज़मीन, माहिरीन बल्कि बेहतरीन माहिरीन में तबदील हो सकीं।

उन्होंने कहा कि ऐसा सिर्फ़ इजतिमाई कार्रवाई और तमाम मुफ़ादात रखने वाले अफ़राद की मृतकज़ मंसूबा बंदी के ज़रिए ही मुम्किन है। इस से इस इलाक़े में बेहतर मुस्तक़बिल की उम्मीद पैदा होगी। उन्होंने कहा कि इन इलाक़ों की सूरत-ए-हाल से रास्त वाक़फ़ीयत रखने की वजह से वो शोबा सनअत को तैक़ून‌ देते हैं कि इन इलाक़े के नौजवानों में काफ़ी सलाहीयतें मौजूद हैं।

उन्होंने शोबा सनअत पर ज़ोर दिया कि वो उनकी सलाहियतों को तरक़्क़ी देने में अपना हिस्सा अदा करते हुए दूसरों केलिए एक मिसाल क़ायम करें। उन्होंने कहा कि इस से शोबा सनअत और पेशावराना तर्बीयती मराकज़ के अलावा स्कूली तालीम और पेशावराना तर्बीयत दोनों में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि उन की विज़ारत महारतों की तरक़्क़ी की कोशिशों का खैरमक़दम करेगी और उन्होंने कहा कि हालाँकि ख़वातीन मुल्क की आबादी का क़ाबिल लिहाज़ हिस्सा हैं। मआशी फ़रोग़ में उनकी शमूलियत महिदूद है। ये रवैय्या तबदील होना चाहिए। तमाम अफ़राद केलिए साज़गार माहौल फ़राहम किया जाना चाहिए ताकि वो अपनी फ़न्नी महारतों को फ़रोग़ दे सकें। उन्होंने कहा कि वो तैक़ून देते है कि जुग़राफ़ियाई इख़तेलाफ़ात बहुत जल्द ख़त्म होजाएंगे और जल्द ही मुतवाज़िन तरक़्क़ी का रवैया ज़्यादा समरावर साबित होगा।

TOPPOPULARRECENT