Monday , December 11 2017

नक्सली फसादात में झारखंड पहुंचा पहले नंबर पर

रांची 21 अप्रैल : मरकज़ी दाखला वज़ारत ने नक्सली वक़ियात के आंकड़ों पर शुमार एक रिपोर्ट तैयारी की। यह रिपोर्ट 31 मार्च 2013 तक की है। रिपोर्ट के मुताबिक नक्सली फसादात के मामले में झारखंड पहले नंबर पर पहुंच गया है, जबकि छत्तीसगढ़ दूसरे नं

रांची 21 अप्रैल : मरकज़ी दाखला वज़ारत ने नक्सली वक़ियात के आंकड़ों पर शुमार एक रिपोर्ट तैयारी की। यह रिपोर्ट 31 मार्च 2013 तक की है। रिपोर्ट के मुताबिक नक्सली फसादात के मामले में झारखंड पहले नंबर पर पहुंच गया है, जबकि छत्तीसगढ़ दूसरे नंबर पर है।

दाखला वज़ारत की रिपोर्ट के मुताबिक पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में नक्सली वक़ियात में गैर मतूका कमी आयी है। ओड़िशा में भी नक्सली वक़ियात में कमी आयी है। आंकड़ों के मुताबिक हिंदुस्तान के मुख्तलिफ रियासतों में जो नक्सली वक़ियात होती हैं, उनमें 80 फ़िसद वक़ियात सिर्फ झारखंड, छत्तीसगढ़ और बिहार में होती है।

अगरचे 2013 के पहले सह माह़ी माह में 272 वक़ियात दर्ज की गयी। यह आंकड़ा साल 2012 के पहले सहमाही में 417 के करीब रहा था। इस दौरान 98 लोग मारे गये। जबकि यह आंकड़ा 2012 में 120 के करीब रहा था।

झारखंड रियासत में 31 मार्च 2013 तक 118 नक्सली वक़ियात हुई, जिसमें कुल 52 लोग मारे गये। मरनेवालों में 37 आमलोग थे। 14 वैसे लोगों की क़त्ल हुई, जिन पर नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी का इलज़ाम लगाया था। जबकि साल 2012 में सिर्फ 91 वक़ियात हुई थीं। इन वक़ियात में मैय्यत की तादाद भी साल 2013 के मुकाबले कम रही थी।

TOPPOPULARRECENT