Saturday , December 16 2017

नजीब जंग से अरविंद केजरीवाल की मुलाक़ात

नई दिल्ली

नई दिल्ली

इक़्तेदार की रसा कुशी के दरमियान चीफ़ मिनिस्टर दिल्ली अरविंद केजरीवाल ने आज लेफ्टेंनेंट‌ गवर्नर नजीब जंग से मुलाक़ात की और इंसिदाद रिश्वत सतानी ब्यूरो की कारकर्दगी पर तबादला-ए-ख़्याल किया। दिल्ली हाइकोर्ट की जानिब से ये रोलिंग दिए जाने के एक दिन बाद कि ए सी पी को ये इख़तियार हासिल है कि वो मर्कज़ी हुकूमत के ओहदेदारों के ख़िलाफ़ तहक़ीक़ात करसकती है।

ये मुलाक़ात एहमीयत की हामिल हुई है। 20 मिनट तक जारी रही मुलाक़ात में अरविंद केजरीवाल ने नजीब जंग को हाइकोर्ट की रोलिंग से वाक़िफ़ करवाया और इंसिदाद रिश्वत सतानी ब्यूरो के इख़्तियारात के बारे में भी तफ़सीली मुलाक़ात है। डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर मनीष सीसोडया और चीफ़ सैक्रेटरी के शर्मा भी केजरीवाल के हमराह थे।

ये मुलाक़ात एसे वक़्त हुई जब दिल्ली असेम्बली का दो रोज़ा सैशन शुरू हुआ है। इस सैशन को मर्कज़ की नोटिस पर बेहस करने केलिए तलब किया गया है। मर्कज़ ने अपने आलामीया में बयो रियो करीटस के तक़र्रुत केलिए लेफ्टेनेंट‌ गवर्नर को क़तई इख़्तियारात दिए हैं। इस के अलावा पुलिस-ओ-अवामी शोबा से मरबूत मसाइल से भी लेफ्टेनेंट‌ गवर्नर ही निमटेंगे।

21 मई को जारी करदा आलामीया में मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला ने ए बी सी को किसी भी ओहदेदार के ख़िलाफ़ केस दर्ज करने की इजाज़त दी है और ये केस मर्कज़ी हुकूमत के किसी भी मुलाज़िम के ख़िलाफ़ दर्ज किया जा सकता है। इस आलामीया की इजराई के बाद केजरीवाल ने मर्कज़ पर रास्त तन्क़ीदें शुरू की थीं और इल्ज़ाम आइद किया था कि ये हुकूमत शहर के अवाम के साथ धोका कररही है और लेफ्टेनेंट‌ गवर्नर को हुकूमत चलाने का इख़तियार दे रही है।

दोनों जानिब एक दूसरे से कई मुतअद्दिद सवालात किए थे। दिल्ली हाइकोर्ट ने कल ही मर्कज़ के हालिया आलामीया को मुसबत क़रार दिया था और कहा था कि ए बी सी को अपने ओहदेदारों की मुजरिमाना हरकतों के ख़िलाफ़ कार्रवाई से बाज़ रखना लेफ्टेनेंट‌ गवर्नर के इख़तियार में नहीं है।

TOPPOPULARRECENT