नजीब मामलाः ABVP छात्रों पर कार्रवाई के बजाय आंदोलनकारी छात्रों को JNU ने दिया नोटिस

नजीब मामलाः ABVP छात्रों पर कार्रवाई के बजाय आंदोलनकारी छात्रों को JNU ने दिया नोटिस
Click for full image

नई दिल्ली। जेएनयू के लापता छात्र नजीब अहमद की वापसी के लिए आंदोलन करने वाले छात्रों को विश्वविद्यालय प्रशासन ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। जेएनयू प्रशासन नजीब के साथ मारपीट करने वाले एबीवीपी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय उल्टा आंदोलन करने वाले 20 छात्रों को नोटिस दिया है। उन्हें प्रॉक्टोरियल कमेटी के समक्ष उपस्थित होने को कहा गया है। इन छात्रों में जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार, उमर खालिद वर्तमान जेएनयू अध्यक्ष मोहित पांडे शामिल हैं।

जेएनयू ने छात्रों से मांगा स्पष्टीकरण

जेएनयू प्रशासन ने इन छात्रों को नोटिस देते हुए स्पष्टीकरण मांगा है। दरअसल नजीब की वापसी की मांग और उसके साथ मारपीट करने वाले एबीवीपी के छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर जेएनयू छात्रों ने प्रदर्शन किया था। इन छात्रों ने प्रशासनिक भवन में वीसी सहित तमाम अधिकारियों को 20 घंटे से ज्यादा वक्त तक बंधक बनाया था। छात्रों का आरोप है कि विश्वविद्यालय प्रशासन आरोपी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय उन्हें बचाने की कोशिश कर रही है।

क्या है पूरा मामला?

आपको बता दें कि जेएनयू के स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी का छात्र नजीब अहमद पिछले 14 अक्टूबर से विश्वविद्यालय से गायब है। नजीब के लापता होने से पहले उसके साथ एबीवीपी के छात्रों ने मारपीट की थी। नजीब की वापसी और आरोपी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर उसकी मां-बहन और जेएनयू के छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं।

Top Stories