नरसिम्हा राव जयंती तक़ारीब मनाने हुकूमत तेलंगाना का फ़ैसला

नरसिम्हा राव जयंती तक़ारीब मनाने हुकूमत तेलंगाना का फ़ैसला
तेलंगाना हुकूमत साबिक़ वज़ीर-ए-आज़म पी वि नरसिम्हा राव की जयंती तक़ारीब बड़े पैमाने पर मुनाक़िद करने की तैयारी कररही है।

तेलंगाना हुकूमत साबिक़ वज़ीर-ए-आज़म पी वि नरसिम्हा राव की जयंती तक़ारीब बड़े पैमाने पर मुनाक़िद करने की तैयारी कररही है।

रियासती हुकूमत के मुशीर बराए सक़ाफ़्त-ओ-सयाहत पी वि रमना चारी ने सेक्रेट्रियट में आला ओहदेदारों के साथ मीटिंग मुनाक़िद करते हुए तक़ारीब के इनइक़ाद पर तबादला-ए-ख़्याल किया।

28 जून को पी वि नरसिम्हा राव की यौम-ए-पैदाइश है और उनके तेलंगाना के ताल्लुक़ के सबब टी आर एस हुकूमत ने जयंती तक़ारीब बड़े पैमाने पर मुनाक़िद करने का फ़ैसला किया है।अगरचे पी वि नरसिम्हा राव का ताल्लुक़ कांग्रेस पार्टी से था लेकिन बाबरी मस्जिद की शहादत को रोकने में वज़ीर-ए-आज़म की हैसियत से उनकी नाकामी के बाइस मुसलमानों में नाराज़गी को देखते हुए कांग्रेस ने कभी भी उन की यौम-ए-पैदाइश या देहांत के दिन का कोई ख़ास एहतेमाम नहीं किया।

रियासत में कांग्रेस हुकूमत के बावजूद भी सरकारी सतह पर और पार्टी के दफ़्तर गांधी भवन में उनकी याद में तक़ारीब से गुरेज़ किया गया। चीफ़ मिनिस्टर्स और वुज़रा जयंती और देहांत की तक़ारीब में शिरकत से गुरेज़ करते रहे लेकिन टी आर एस हुकूमत एसी शख़्सियत की जयंती तक़ारीब के शानदार इनइक़ाद की तैय्यारी कररही है।

Top Stories