Monday , June 18 2018

नरेंद्र मोदी को वज़ीरए आज़म का उम्मीदवार बनाने के मश्वरा पर एहतिजाज

मुलक के मुमताज़ क़ानूनदां राम जेठमलानी की तरफ से सदर बी जे पी मिस्टर नतन गडकरी के नाम रवाना करदा मकतूब(खत) जिस में उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर गुजरात नरेंद्र मुदी को वज़ारतए अज़मा ( वज़ीर-ए-आज़म ) का उम्मीदवार बनाने का मश्वरा देते हुए नरेंद्

मुलक के मुमताज़ क़ानूनदां राम जेठमलानी की तरफ से सदर बी जे पी मिस्टर नतन गडकरी के नाम रवाना करदा मकतूब(खत) जिस में उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर गुजरात नरेंद्र मुदी को वज़ारतए अज़मा ( वज़ीर-ए-आज़म ) का उम्मीदवार बनाने का मश्वरा देते हुए नरेंद्र मुदी में हुक्मरानी (हुकूमत चलाना )की बेहतरीन सलाहीयतों की भी सताइश(तारीफ) की।

राम जेठमलानी के इस ब्यान पर शदीद एहतेजाज ,ब्रहमी(ग़ुस्से) का इज़हार करते हुए सीनीयर क़ाइद(लीडर) तेलगोदीशम पार्टी जनाब मुहम्मद रहीम उल्लाह ख़ान नियाज़ी ने कहा के क्या राम जेठमलानी 2002 और 2003 में हिंदूस्तान में मौजूद नहीं थे, क्या उन्हें गुजरात के भयानक फ़िर्कावाराना फ़सादाद से वाक़फ़ीयत नहीं है?लेकिन अफ़सोस के हमारे मुलक के मुमताज़ क़ानूनदां रुकन पार्लीमैंट राम जेठमलानी इन हालात से किया वाक़िफ़ नहीं?।

राम जेठमलानी गुजरात के इन वहशयाना इंसानियत सोज़ मुस्लमानों की नसल कुशी के फ़सादाद से वाक़िफ़ नहीं तो उन का नरेंद्र मुदी को वज़ीरए आज़म का उम्मीदवार बनाने का मश्वरा और चीफ़ मिनिस्टर गुजरात की सलाहीयतों की सताइश (तारीफ)करना हिंदूस्तान के 30 करोड़ मुस्लमानों के ज़ख़मों पर नमक छिड़कने के बराबर है।

जनाब मुहम्मद रहीम उल्लाह ख़ान नियाज़ी क़ाइद तेलगोदीशम पार्टी ने कहाके हमारे मुलक के मुमताज़ क़ानूनदां राम जेठमलानी एम पी को ये बात हरगिज़ जे़ब नहीं देती के वो मुस्लमानों के क़ातिल , मुस्लमानों की नसल कशी के ज़िम्मेदार नरेंद्र मुदी की सलाहीयतों की तारीफ करें।

TOPPOPULARRECENT