नवाज़ शरीफ़ के दौर में इंसाफ़ नामुमकिन – इमरान ख़ान

नवाज़ शरीफ़ के दौर में इंसाफ़ नामुमकिन  – इमरान ख़ान
सरब्राह तहरीके इंसाफ़ इमरान ख़ान ने वज़ीरे आज़म की इस पेशकश को फ़ौरी तौर पर मुस्तरद करते हुए कहा कि जब तक नवाज़ शरीफ़ हुकूमत में हैं, वो किसी कमेटी को क़ुबूल नहीं करेंगे।

सरब्राह तहरीके इंसाफ़ इमरान ख़ान ने वज़ीरे आज़म की इस पेशकश को फ़ौरी तौर पर मुस्तरद करते हुए कहा कि जब तक नवाज़ शरीफ़ हुकूमत में हैं, वो किसी कमेटी को क़ुबूल नहीं करेंगे।

चाहे कुछ भी हो हम 14 अगस्त को मार्च ज़रूर करेंगे और अगर हमें रोकने की कोशिश की गई या हमारे कारकुनों को गिरफ़्तार किया गया तो इस का मतलब ये है कि हुकूमत ने अपनी क़ब्र ख़ुद ही खोद ली है। इमरान ख़ान ने मज़ीद कहा कि जैसे ही जुडिशनल कमीशन अपने काम शुरू करे, नवाज़ शरीफ़ को मुस्ताफ़ी हो जाना चाहिए।

जब तक नवाज़ शरीफ़ वज़ीरे आज़म होंगे तब तक इंसाफ़ नहीं मिल सकता। पाकिस्तान में आम तास्सुर है कि इमरान के ग़ैर मुसालिहाना रवैये ने हुकूमत को परेशान कर रख है।

Top Stories