Saturday , December 16 2017

नागपुर को सिंगापुर की तर्ज़ पर तरक़्क़ी देने का इद्दिआ

नागपुर म्यूनसिंपल कारपोरेशन इंतेख़ाबात में कांग्रेस । एन सी पी इत्तेहाद का हुक्मराँ इत्तेहाद बी जे पी । शिवसेना के साथ कांटे का मुक़ाबला है क्योंकि हुक्मराँ जमात को इख़्तेयारात के बेजा इस्तेमाल और बदउनवानीयों के इल्ज़ामात का स

नागपुर म्यूनसिंपल कारपोरेशन इंतेख़ाबात में कांग्रेस । एन सी पी इत्तेहाद का हुक्मराँ इत्तेहाद बी जे पी । शिवसेना के साथ कांटे का मुक़ाबला है क्योंकि हुक्मराँ जमात को इख़्तेयारात के बेजा इस्तेमाल और बदउनवानीयों के इल्ज़ामात का सामना है। शहर के दो आला सतही क़ाइदीन मुक़ामी एम पी और जनरल सेक्रेटरी बराए ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (AICC) विलास मुतेश्वर और बी जे पी के क़ौमी सदर नीतिन गडकरी भी मुक़ाबला में शामिल हैं और दोनों ही जानिब से इस मुआमला को वक़ार का मसला बनाया गया है।

यहां इस बात का तज़किरा भी दिलचस्प होगा कि बाअज़ सयासी मुबस्सिरीन ने 16 फरवरी के बलदी इंतेख़ाबात को दरअसल मुतेश्वर बमक़ामला गडकरी क़रार दिया है। मुतेश्वर इस बात के ख़ाहां है कि महाराष्ट्रा के दूसरे दार-उल-ख़लाफ़ा यानी नागपुर को सिंगापुर की तर्ज़ पर तरक़्क़ी दी जाएगी और यही बात उन्हों ने अपने इंतेख़ाबी मंशूर में भी शामिल की है जिस की इजराई रियास्ती वज़ीर-ए-आला पृथ्वी राज चौहान के हाथों अमल में आई थी। याद रहे कि महाराष्ट्रा के दार-उल-ख़लाफ़ा मुंबई को भी साबिक़ वज़ीर-ए-आला विलास राव देशमुख चीन के शहर शंघाई की तर्ज़ पर तरक़्क़ी देने की बातें किया करते थे।

TOPPOPULARRECENT