Monday , December 11 2017

नामांकन रद्द मामला : कोर्ट की शरण में गये अजहरुद्दीन

नयी दिल्‍ली : टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान मोहम्‍मद अजहरुद्दीन हैदराबाद क्रिकेट संघ को नामांकन रद्द करने के खिलाफ अदालत में चुनौती दी है. अध्‍यक्ष पद के चुनाव में उनके नामांकन को रद्द करने के खिलाफ अजहर ने कोर्ट में याचिका दायर की है.

गौरतलब हो कि भारत के पूर्व कप्‍तान ने हैदराबाद क्रिकेट संघ के अध्‍यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन भरा था. लेकिन मैच फिक्सिंग के आरोप में फंस चुके अजहर के नामांकन को संघ ने नामंजूर कर दिया था. इसके बाद अजहर भड़क गये और कोर्ट की शरण में चले गये. अजहर पर साल 2000 में मैच फिक्सिंग का आरोप लगा था, जिसके बाद आईसीसी और बीसीसीआई ने उनपर लाइफ टाइम बैन लगा दिया था, लेकिन बाद में हैदराबाद हाईकोर्ट ने उनपर लगे बैन को हटा दिया था.

दरअसल यह विवाद बीसीसीआई के कारण उठा. पीठासीन अधिकारी ने बीसीसीआई को लिखा था कि क्या अजहर पर मैच फिक्सिंग के लिये लगाया गया प्रतिबंध हटा दिया गया है या नहीं. बीसीसीआई ने इसका जवाब नहीं दिया. ‘ एक अन्य सूत्र ने हालांकि कहा कि निर्वाचन अधिकारी को बीसीसीआई के बजाय लोढ़ा समिति को लिखना चाहिए था. इसके अलावा यह भी मसला है कि अजहर एचसीए के मतदाता हैं या नहीं. अजहर से जब उनका नामांकन रद्द किये जाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘मैं दुखी और निराश हूं. मुझे अदालत ने सभी आरोपों से बरी कर रखा है. ‘

TOPPOPULARRECENT