Monday , December 18 2017

नाराज़ वुज़रा का सत्यानारयाना के घर पर मीटिंग

हैदराबाद 03 मई: चीफ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी को सयासी मुश्किलात का सामना करना पड़ रहा है रियासती काबीना में ख़ुद उन के साथी ही उन के ख़िलाफ़ सरगर्म होगए हैं।

हैदराबाद 03 मई: चीफ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी को सयासी मुश्किलात का सामना करना पड़ रहा है रियासती काबीना में ख़ुद उन के साथी ही उन के ख़िलाफ़ सरगर्म होगए हैं।

इन वुज़रा का इल्ज़ाम है कि चीफ मिनिस्टर एकतरफ़ा फैसले करते हुए उन्हें पूरी तरह नज़रअंदाज कर रहे हैं। नाराज़ वुज़रा ने आज सदर प्रदेश कांग्रेस बी सत्यानारयाना से मुलाक़ात करके नई स्कीम के एलान से पहले उन्के इलिम में ना लेने की शिकायत की और कहा कि वो एकतरफ़ा फैसले के ख़िलाफ़ पार्टी हाईकमान से शिकायत करने का मंसूबा रखते हैं।

कल वज़ीर सेहत डी एल रवींद्र रेड्डी ने बंगारू तली स्कीम और रियासती वज़ीर पंचायत राज के जाना रेड्डी ने बयारम मादिनी ज़ख़ाइर विशाखा स्टील प्लांट के लिए फिक्स करने के मुआमले में काबीना कि मीटिंग में मैशवेरह ना करने की शिकायत की थी जिस के बाद रियासती काबीना दो हिस्सों में बट गई है।

रियासती वज़ीर डी नागेंद्र के पारता सारथी और दुसरें ने चीफ मिनिस्टर की सताइश की थी और सौंचा था कि चीफ मिनिस्टर ने इस फैसले पर उन से तबादला ख़्याल करेंगे।

चीफ मिनिस्टर के रवैये पर नाराज़ अरकान कि एक मीटिंग आज सदर प्रदेश कांग्रेस बी सत्यानारयाना के घर पर मुनाक़िद हुआ। मीटिंग में रियासती वज़ीर डी एल रवींद्र रेड्डी के जाना रेड्डी और वटी वसनत कुमार के अलावा डिप्टी चीफ मिनिस्टर डी राज नरसिम्हा ने भी शिरकत की।

रियासती वुज़रा ने सदर प्रदेश कांग्रेस से शिकायत की के चीफ मिनिस्टर उन्हें नज़रअंदाज करते हुए नई स्कीमात का एलान कर रहे हैं।

काबीना में भी उन पर ग़ौर नहीं हो रहा है। वुज़रा को इन स्कीमात से ला इलम रखते हुए चीफ मिनिस्टर अज़ला के दौरे करके उन स्कीमात की तशहीर कर रहे हैं।

डिप्टी चीफ मिनिस्टर ने भी चीफ मिनिस्टर के रवैये पर गुस्सा ज़ाहिर कीया और कहा कि हालाँके वो डिप्टी चीफ मिनिस्टर हैं लेकिन उन्हें नज़रअंदाज किया जा रहा है।

चीफ मिनिस्टर ख़ुद को सब कुछ समझते हुए साथी वुज़रा को नज़रअंदाज कर रहे हैं। उनके फैसलों की ताईद ना करने वाले वुज़रा को नज़रअंदाज किया जा रहा है।

सदर प्रदेश कांग्रेस ने इन वुज़रा को याकिन दिया कि वो इस मसले पर चीफ मिनिस्टर और हाईकमान से बात चीत करेंगे। ताहम वुज़रा ने कहा कि बात करने की कोई हद होती है।

उन्होंने हाईकमान से शिकायत करने का इरादा ज़ाहिर किया है। पराटी ज़राए ने बताया कि वो हाईकमान को वाक़िफ़ करवाएंगे कि चीफ मिनिस्टर के रवैये से पार्टी को नुक़्सान हो रहा है।

वुज़रा ने आज के मीटिंग में कह कि जितनी जल्दबाज़ी में स्कीमात का एलान किया जा रहा है इस से पार्टी में उलझन पैदा हो रही है।

स्कीमात के इस तरह से एलान से पार्टी को फ़ायदा होने की बजाये नुक़्सान होगा।

सदर प्रदेश कांग्रेस बी सत्यानारयाना ने आन रेकॉर्ड कहा था कि उन्हें भी बंगारू तली स्कीम की कोई इतेला नहीं थी। चीफ मिनिस्टर ने इस स्कीम का हफ़्ते को मेदक में एलान किया था जबके इस से दो दिन पहले ही सदर तेलुगू देशम चन्द्रबाबू नायडू ने लड़कियों की पैदाइश पर इमदाद की स्कीम महा लक्ष्मी मुतआरिफ़ करवाने का वाअदा किया था।

डिप्टी चीफ मिनिस्टर का इल्ज़ाम है कि इंदिरा कल्लालो प्रोग्राम के ताल्लुक़ से भी उन से मशवेरह नहीं की थी जबके अम्मा हसतम स्कीम पर भी कुछ वुज़रा ने नाराज़गी का इज़हार किया था।

चीफ मिनिस्टर इन शिकायतों को नज़र अंदाज़ करके अपने एजंडे पर अमल करने में मसरूफ़ हैं।

TOPPOPULARRECENT