नाराज उपेंद्र कुशवाह ने की तेजस्वी यादव से मुलाकात, सियासी हलचल तेज़

नाराज उपेंद्र कुशवाह ने की तेजस्वी यादव से मुलाकात, सियासी हलचल तेज़
Click for full image

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने लोकसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारें को लेकर शुक्रवार को मुलाकात की है। जिसके बाद राज्य में राजनीतिक दंगल शुरू हो गया है। सूत्रों के मुताबिक राज्य में जेडीयू और भाजपा ने बराबर-बराबर यानी 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है। जबकि रामबिलास पासवान और उपेंद्र कुशवाहा को क्रमश: पांच और एक सीट देने की बात हुई है।

लेकिन सिर्फ एक सीट मिलने से उपेंद्र कुशवाह नाराज हो गए हैं। बता दें कि उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी आरएलएसपी से वर्तमान में भी तीन सांसद हैं। नाराज उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से मुलाकात की है।

माना जा रहा है कि उपेंद्र कुशवाहा अब आरजेडी के साथ मिलकर चुनाव लड़ सकते हैं। कुशवाहा और तेजस्वी की यह मुलाकात काफी अहम मानी जा रही है। बता दें कि शुक्रवार को नीतीश कुमार ने अमित शाह से मुलाकात की है। बैठक में फैसला लिया गया है कि जेडीयू और भाजपा बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेंगी। वहीं अन्य सहयोगी दलों को भी सम्मानजनक सीटें मिलेंगी।

नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार और एनडीए में समझौता हो गया है। वहीं अमित शाह ने कहा कि दो तीन दिनों में सीटों का एलान कर दिया जाएगा। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात की है। इसके बाद उन्होंने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। लोकसभा में सीटों के बंटवारे के लिहाज से यह काफी अहम मुलाकात थी।

जनता दल (यूनाइटेड) के नेता केसी त्यागी ने अमर उजाला से कहा कि नीतीश कुमार की प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात पूरी तरह बिहार के विषयों को लेकर हुई है। नीतीश कुमार ने बिहार में विकास की कुछ नई योजनाओं के लिए केंद्र से धन देने की मांग की है।

बैठक से पहले इस सवाल पर कि क्या लोकजनशक्ति पार्टी और उपेंद्र कुशवाहा उनके साथ रहेंगे, त्यागी ने कहा था कि दोनों ही दलों से उनके बेहतर संबंध हैं और वे एनडीए के साथ अगले चुनाव में भी बने रहेंगे। बता दें कि बिहार की 40 लोकसभा सीटों में दोनों ही पार्टियां ज्यादा से ज्यादा सीटें लेने की कोशिश कर रही थीं।

Top Stories