Monday , December 18 2017

नालों पर ग़ैर मजाज़ क़ब्ज़े को बरख़ास्त करने बल्दिया की पहल

शहर में मौजूद नालों पर ग़ैर मजाज़ क़ब्ज़ाजात को ख़त्म करने के लिए मजलिसे बल्दिया अज़ीम तर हैदराबाद मुतहर्रिक होती नज़र आ रही है। बताया जाता है कि गुज़िश्ता एक बरस के दौरान 775 क़ब्ज़ाजात की बर्ख़ास्तगी के बाद बल्दी ओहदेदारों ने फ़ैसला किया

शहर में मौजूद नालों पर ग़ैर मजाज़ क़ब्ज़ाजात को ख़त्म करने के लिए मजलिसे बल्दिया अज़ीम तर हैदराबाद मुतहर्रिक होती नज़र आ रही है। बताया जाता है कि गुज़िश्ता एक बरस के दौरान 775 क़ब्ज़ाजात की बर्ख़ास्तगी के बाद बल्दी ओहदेदारों ने फ़ैसला किया है कि इस साल मज़ीद क़ब्ज़ाजात को बर्ख़ास्त करने के लिए ख़ुसूसी मुहिम चलाई जाए।

बारिश के पानी के नालों पर किए गए क़ब्ज़ों की बर्ख़ास्तगी के ज़रीए नालों की सफ़ाई को यक़ीनी बनाने के लिए मजलिसे बल्दिया अज़ीम तर हैदराबाद के आला ओहदेदारों ने जायज़ा इजलास मुनाक़िद करते हुए दोनों शहरों के मुख़्तलिफ़ मुक़ामात पर किए गए नाजायज़ क़ब्ज़ों के मुताल्लिक़ तफ़सीलात हासिल कीं।

ओहदेदारों ने बताया कि फ़िलहाल 977 ऐसे क़ब्ज़ाजात हैं जिन्हें फ़ौरी तौर पर बर्ख़ास्त किया जाना नागुज़ीर है बसूरते दीगर तेज़ बारिश के नतीजे में ना सिर्फ़ पानी के गुज़रने में दुशवारी होगी बल्कि नालों पर मौजूद क़ाबिज़ीन की जानों को भी ख़तरा लाहक़ हो सकता है।

इसी लिए आइन्दा दो यौम के दौरान जी एच एम सी की जानिब से बड़े पैमाना पर मुहिम चलाते हुए नालों पर मौजूद क़ब्ज़ाजात की बर्ख़ास्तगी अमल में लाई जाएगी।

TOPPOPULARRECENT