Sunday , December 17 2017

नितीश कुमार अवाम की आवाज़ दबाना चाहते हैं :लालू प्रसाद

आर जे डी सरबराह ( व्यवस्थापक) लालू प्रसाद ने आज हुकूमत बिहार के इस तजवीज़ (फैसला/ निर्णय) की मुख़ालिफ़त की कि हुकूमत के ख़िलाफ़ एहतिजाजी मुज़ाहरा ( विरोधी प्रदर्शन) करने वालों के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी ।

आर जे डी सरबराह ( व्यवस्थापक) लालू प्रसाद ने आज हुकूमत बिहार के इस तजवीज़ (फैसला/ निर्णय) की मुख़ालिफ़त की कि हुकूमत के ख़िलाफ़ एहतिजाजी मुज़ाहरा ( विरोधी प्रदर्शन) करने वालों के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी ।

उन्होंने कहा कि हुक्मराँ जे डी (यू ) इस तरह की तजावीज़ (फैसले) के ज़रीया डिक्टेटर शिप को फ़रोग़ देना चाहती है । उन्होंने अख़बारी नुमाइंदों ( पत्रकारों) से बात करते हुए कहा कि नतीश कुमार हुकूमत अगर डिक्टेटर शिप पसंद करती है तो उन्हें सोचना चाहीए कि इस तरह हुकूमत बहुत जल्द ज़वालपज़ीर (गिर/ पतन शील) हो जाएगी ।

उन्होंने कहा कि वज़ीर-ए-आला अवाम की आवाज़ को दबाना चाहते हैं । जमहूरी तर्ज़ ( सार्वजनिक स्वभाव) हुकूमत का ये ख़ासा है कि यहां अवाम को जमहूरी ( सार्वजनिक) तरीक़ा से एहतिजाज ( प्रदर्शन) करने की पूरी आज़ादी है और नितीश कुमार किसी आमिर की तरह अवाम की इस आज़ादी को सल्ब कर लेना चाहते हैं । उन्हों ने कहा कि रियासत में बेरोज़गारी और बदउनवानीयों का वही हाल है जो पहले था जो नतीश कुमार हुकूमत के हर महाज़ ( मुकाबले) पर नाकाम होने की दलील है।

TOPPOPULARRECENT