निर्भया डॉक्यूमेंट्री: बीबीसी के बचाव में उतरा बॉलीवुड

निर्भया डॉक्यूमेंट्री: बीबीसी के बचाव में उतरा बॉलीवुड
16 दिसंबर, 2012 को दिल्ली में हुई इज्तिमाई इस्मतरेज़ी के वाकिया पर बनी ‘बीबीसी’ के मुतनाज़ा डॉक्यूमेंट्री ‘इंडियाज डाउटर’ के नशरियात पर रोक लगाए जाने का एहतिजाज बालिवुड ने किया है. उन्होंने इसे ‘गंदा जहनियत’ वाला बताया है.

16 दिसंबर, 2012 को दिल्ली में हुई इज्तिमाई इस्मतरेज़ी के वाकिया पर बनी ‘बीबीसी’ के मुतनाज़ा डॉक्यूमेंट्री ‘इंडियाज डाउटर’ के नशरियात पर रोक लगाए जाने का एहतिजाज बालिवुड ने किया है. उन्होंने इसे ‘गंदा जहनियत’ वाला बताया है. साथ ही ‘इस पर रोक क्यों’ और ‘हम कहां जा रहे हैं?’ जैसे सवाल उठाए हैं. ‘इंडियाज डाउटर’ किसी नामालूम शख्स ने यूट्यूब पर अपलोड कर दिया है. वज़ारत ए दाखिला ने कहा कि अदालत से डॉक्यूमेंट्री की नशरियात पर रोक लगाने के हुक्म ले लिए गए हैं.

बोमन ईरानी: डॉक्यूमेंट्री सच की कहानियां हैं. हमें ‘इंडियाज डाउटर’ डॉक्यूमेंट्री की सच्चाई की बजाय उस हकीकत पर शर्मिंदा होना चाहिए.

पुनीत मल्होत्रा: अभी-अभी बीबीसी का डॉक्यूमेंट्री ‘इंडियाज डाउटर’ देखा. इसे हमारे समाज को आईना दिखाने और मर्द कैसा सोचता है, ये दिखाने के लिए दिखाया जाना जरूरी है.

अनुराग बसु: अभी डॉक्यूमेंट्री ‘इंडियाज डाउटर’ देखा. इस पर रोक लगाने की बजाय इसे देखना जरूरी किया जाना चाहिए.

जेनेलिया डिसूजा: मेहरबानी करके ‘इंडियाज डाउटर’ देखें. हमें हम में और हमारे आसपास मौजूद बुराई को समझने व मिटाने की जरूरत है.

अनुभव सिन्हा: अभी-अभी ‘इंडियाज डाउटर’ देखकर हटा हूं. उन्हें इस पर रोक क्यों लगानी चाहिए? क्यों?

वीर दास: मुझे नहीं मालूम कि इस डॉक्यूमेंट्री में क्या है. लेकिन ऐसा लगता है कि मुल्क शर्मिंदगी की बजाय इस मुल्क की ख़्वातीन के खिलाफ ज्यादा लड़ रहा है.

कबीर बेदी: फिल्म डायरेक्टर की तरफ से बनाई गई ‘इंडियाज डाउटर’ के नशरियात पर रोक लगाने के हुकूमत के फैसले से हिम्दुस्तान की शबिया वि को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचा है.

शिरीष कुंदर: अब उन लोगों पर एफआईआर दर्ज होने का इंतजार करो, जिन्होंने यह इस ममनूअ डॉक्यूमेंट्री शेयर किया और जिन्होंने इसे देखा.

गोल्डी बहल: ‘इंडियाज डाउटर’ पर पाबंदी क्यों? यह हमारा चौंकाने वाला सच है. मर्दों की ऐसी ज़हनियत पर रोक लगाएं.

Top Stories