Sunday , February 25 2018

नीट पर सुप्रीम कोर्ट का आज फ़ैसला

नई दिल्ली 13 मई: एमबी बी एस पोस्ट ग्रेजुएशन डेंटल और पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेस में दाख़िलों के लिए क़ौमी अहलीयत-ओ-एंट्रेंस टेसट (NEET) के जवाज़ पर सुप्रीम कोर्ट पिर को अपने फ़ैसले का एलान करेगा।

नई दिल्ली 13 मई: एमबी बी एस पोस्ट ग्रेजुएशन डेंटल और पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेस में दाख़िलों के लिए क़ौमी अहलीयत-ओ-एंट्रेंस टेसट (NEET) के जवाज़ पर सुप्रीम कोर्ट पिर को अपने फ़ैसले का एलान करेगा।

हुकूमत आंध्र प्रदेश और दूसरों की तरफ़ से दायर करदा दरख़ास्त पर चीफ़ जस्टिस अल्तमस कबीर जस्टिस विक्रम जीत सेन और अनील दावे पर मुश्तमिल बंच ने पिछ्ले चार माह के दौरान बेहस की समाअत की और 30 अप्रैल को अपना फ़ैसला महफ़ूज़ कर दिया था।

यहां ये बात काबिल-ए-ज़िकर है कि आंध्र प्रदेश और टामिलनाडू की रियास्ती हुकूमतों के अलावा इन दोनों रियास्तों के कई ख़ानगी कॉलेजों ने अपने मुताल्लिक़ा हाइकोर्टस में नीट के इतलाक़ के ख़िलाफ़ दरख़ास्तें दायर करते हुए उबूरी हुक्म अलतवा हासिल कर लिया था।

ताहम मेडिकल कौंसल आफ़ इंडिया ने इन कोर्स में दाख़िलों के अमल की बोहतात से गुरेज़ के लिए सुप्रीम कोर्ट से रुजू हो कर अपनी तरफ़ से एक अलहदा दरख़ास्त दायर की थी।

मेडिकल कौंसल आफ़ इंडिया ने दावा किया था कि नीट के ज़रीये एंट्रेंस काइ खिस्म के इमतेहानात से गुरेज़ किया जा सकता है दाख़िलों के अमल में रिश्वत सतानी-ओ-घोटाले के अंदेशों को कम किया जा सकता है।

TOPPOPULARRECENT