Thursday , December 14 2017

नीतीश ने लालू का मुकाबिला जहरीला सांप से की

बिहार में इंतिख़ाब नजदीक है लेकिन अभी भी जेडीयू और राजद इत्तिहाद में सबकुछ ठीक नजर नहीं आ रहा है। बिहार के वजीरे आला और जेडीयू लीडर नीतीश कुमार ने आरजेडी सरबराह लालू का मुक़ाबला जहरीले सांप से की है। वह मंगल को सोशल साइट यूजर्स के सवालों का जवाब दे रहे थे। इसी दौरान जब उनसे यह पूछा गया कि लालू के साथ बिहार का तरक़्क़ी कैसे करेंगे? जवाब में नीतीश ने ट्वीट किया, ”बिहार का तरक़्क़ी मेरा सोल एजेंडा है। जो रहीम उत्तम प्रकृति, का करी सकत कुसंग। चंदन विष व्यापत नहीं रहे लिपटे रहत भुजंग।” इस दोहे के जरिये से उन्होंने लालू की मुकाबिला एक ऐसे जहरीले सांप से की है जिसके बुरे साथ का असर उन पर नहीं पड़ेगा।

नीतीश से सवाल और उसका जवाब
ट्विटर यूजर Sunil Chandak ‏@SunilVChandak ने पूछा था, ”मैं नीतीश से पूछना चाहूंगा कि अगर आप लालू के साथ जीत जाते हैं तो कैसे बिहार में तरक़्क़ी करेंगे?” इसी का Nitish Kumar ‏@NitishKumar ने जवाब दिया,” @SunilVChandak बिहार का विकास मेरा सोल एजेंडा। जो रहीम उत्तम प्रकृति, का करी सकत कुसंग| चन्दन विष व्यापत नहीं, लिपटे रहत भुजंग||”

आरजेडी ने कहा- लालू की बेइजति नहीं करेंगे बर्दाश्त
नीतीश कुमार की तरफ से लालू यादव की तुलना एक जहरीले सांप से करने का आरजेडी ने मुखालिफत किया है। आरजेडी ने कहा कि हम अपने लीडर का ऐसा बेइजति नहीं सह सकते। आरजेडी के साबिक़ एमपी राजनीति प्रसाद ने कहा, ” नीतीश अपना जुमला बोलते रहते हैं। लेकिन इस तरह से तुलना करना ठीक नहीं। लालू ने जो तरक़्क़ी किया वह कोई ख्वाब में नहीं सोच सकता है। हालांकि, सियासत में यह सब चलता है लेकिन ऐसी बात बोलना गलत है।”

बीजेपी ने याद दिलाया दूसरा दोहा

लालू के बुरे साथ का असर नहीं पड़ने का दावा करने वाले नीतीश कुमार को बीजेपी ने दूसरा दोहा याद दिलाया है। बीजेपी तर्जुमान रामेश्वर चौरसिया ने कहा कि नीतीश को यह दोहा भी याद रखना चाहिए, ”संगत से गुण होत है, संगत से गुण जात। सभी को पता है कि अच्छी संगत से अगर गुण अच्छे होते हैं तो बुरी संगत से अच्छे गुण चले भी जाते हैं।”

TOPPOPULARRECENT