Monday , July 16 2018

‘नीतीश-लालू की वजह बिहारी लफ़्ज़ बना गाली’

पटना : लोक जनशक्ति पार्टी के एमपी चिराग पासवान अपनी ज़ाती जिंदगी, सियासत, बिहार में होने वाले एसेम्बली इंतिख़ाब और दीगर मुद्दों पर खुल कर बात की। उन्होंने बिहार को खुसुसि पैकेज देने की वजीरे आजम की एलान पर कहा कि वजीरे आला नीतीश कुमार ने तैयारी दिखाई होती तो यह पैकेज पहले ही मिल गया होता। चिराग के मुताबिक़, “उन्होंने ख़ास पहल नहीं की तो वजीरे आजम ने ख़ुद इसका ऐलान कर दिया। ” चिराग पासवान ने बिहार में अपने सियासी हरीफ़ों लालू यादव और नीतीश कुमार के बारे में कहा कि उनकी वजह से ही बिहारी लफ्ज गाली बन गया है और इस वजह से ही उनकी पार्टी ने उन दोनों के पार्टियों के ख़िलाफ़ लड़ने का फ़ैसला किया है।

चिराग पासवान वालिद रामविलास पासवान के साथ चिराग पासवान ने कहा कि वे चाहते तो मुंबई में ऐशो आराम की ज़िंदगी बिता सकते थे, पर वहां बिहारियों की हालत देख कर ही उन्होंने सियासत में आने का मन बनाया। चिराग सियासत में आने से पहले फ़िल्म एक्टर थे और उनकी एक फ़िल्म भी आई थी। पासवान ने जाति की बुनियाद पर सियासत करने के इलज़ाम को ख़ारिज करते हुए कहा कि उनका पार्टी अक्लियतों के लिए काम करता है। उन्हें पिछड़ों का भला जिस पार्टी के साथ दिखता है, उसका हिमायत करते हैं।

 

TOPPOPULARRECENT