Wednesday , September 19 2018

नीयती आयोग में ख़िदमात का मौक़ा क़ाबिल फ़ख़र

न्यूयार्क नामज़द नायब सदर नशीन अरविंद पनगढ़िया का बयान

न्यूयार्क

नामज़द नायब सदर नशीन अरविंद पनगढ़िया का बयान

नामवर हिन्दुस्तानी नज़ाद अमरीकी माहिर मआशियात अरविंद पनगढ़िया ने कहा है कि नीयती योग के पहले नायब सदर नशीन की हैसियत से नामज़दगी उन के लिए एज़ाज़ है जबकि ये इदारा 65साला क़दीम मंसूबा बंदी कमीशन की जगह क़ायम किया गया है। कोलंबिया यूनिवर्सिटी पनगढ़िया के हवाले से एक सहाफ़ती बयान जारी करते हुए कहा कि ये मेरे लिए एक एज़ाज़ है और मै वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी और दीगर पोलिसी साज़ों के साथ काम करने का ख़ाहिशमंद हूँ।

कोलंबिया यूनीवर्सिटी में पनगढ़िया मआशियात के प्रोफ़ैसर और जगदीश भगवती प्रोफ़ैसर इंडियन पोलटीकल अकनामी डिपार्टमैंट आफ़ इंटरनेशनल ऐंड पब्लिक अफयर्स हैं और वो नेशनल इंस्टीटियूशन फ़ार टरानसारमनग इंडिया ( नीयती ) आयोग नई ज़िम्मेदारी अदा करने के लिए कोलंबिया यूनिवर्सिटी से तवील रुख़स्त हासिल करली।

62साला प्रोफेसर ने बताया कि अपनी ज़िम्मेदारी से सुबुकदोश होने के बाद वो दुबारा कोलंबिया यूनिवर्सिटी से वाबस्ता होजाएंगे। मिस्टर पनगढ़िया का ओहदे काबीनी दर्जे का है और वो वज़ीर-ए-आज़म मोदी के साथ काम करेंगे जबकि इस इदारे के सदर नशीन होंगे। नीयती आयोग को हुकूमत का मकतबा फ़िक्र ( थिंक टैंक ) तसव्वुर किया जाता है और ये अहम मसाइल पर लायेहा-ए-अमल और तकनीकी मश्वरे फ़राहम करते हैं मिस्टर पनगढ़िया ने क़ब्लअज़ीं बैन-उल-अक़वामी मालीयाती इदारों आलमी बैंक, आई एम एफ़ और एशीयन डेवलपमेंट बैंक में ख़िदमात अंजाम दे चुके हैं। उन्होंने पर स्टेन यूनीवर्सिटी से मआशियात में डाक्टरेट हासिल की है और वर्ल्ड ट्रेड आर्गेनाईज़ेशन में भी काम करचुके हैं।

TOPPOPULARRECENT