Thursday , December 14 2017

नुक़्सानात के तख़मीना के लिए, कमेटी के क़ियाम के लिए हाइकोर्ट की हिदायत

हैदराबाद हाइकोर्ट के चीफ़ जस्टिस कल्याण ज्योति सेन गुप्ता ने किशन बाग़ अर्श महल में पेश आए फ़िर्कावाराना तशद्दुद के दौरान जान-ओ-माल के नुक़्सान का पता लगाने के लिए हुकूमत तेलंगाना को अंदरून छः हफ़्ते कमेटी क़ायम करने की हिदायत दी ह

हैदराबाद हाइकोर्ट के चीफ़ जस्टिस कल्याण ज्योति सेन गुप्ता ने किशन बाग़ अर्श महल में पेश आए फ़िर्कावाराना तशद्दुद के दौरान जान-ओ-माल के नुक़्सान का पता लगाने के लिए हुकूमत तेलंगाना को अंदरून छः हफ़्ते कमेटी क़ायम करने की हिदायत दी है।

एडवोकेट ग़ुलाम रब्बानी की दरख़ास्त मफ़ाद-ए-आम्मा की समाअत के दौरान चीफ़ जस्टिस ने अपने अहकाम में ये बताया कि रियासती हुकूमत कमेटी के ज़रीये तशद्दुद में हुए जान-ओ-माल के नुक़्सान का पता लगाए और उसकी कार्रवाई अंदरून छः माह मुकम्मल करके रिपोर्ट हाइकोर्ट में दाख़िल करे।

जारीया साल 14 मई को पेश आए फ़िर्कावाराना तशद्दुद में सिख छावनी के अफ़राद ने मुबय्यना तौर पर वहां के मुक़ामी अफ़राद पर हमला करते हुए इमलाक को नज़र-ए-आतिश कर दिया था और क़ातिलाना हमला किए थे।

इस तशद्दुद को क़ाबू में करने के नाम पर बॉर्डर सेक्यूरिटी फ़ोर्स के अमले ने नहत्ते अवाम पर फायरिंग करदी थी जिस में तीन अफ़राद हलाक और 20 ज़ख़मी होगए थे।

TOPPOPULARRECENT