नेता जी ने खोटे सिक्के (अमर सिंह) के लिए असली सिक्के को पार्टी से निकाल दिया-रामगोपाल यादव

नेता जी ने खोटे सिक्के (अमर सिंह)  के लिए असली सिक्के को पार्टी से निकाल दिया-रामगोपाल यादव
Click for full image

नई दिल्ली।सपा से निकाले गये राज्यसभा सांसद प्रो. रामगोपाल यादव ने अमर सिंह के बहाने सीधे सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह पर कई तंज किए। उन्होंने जेल जाने से अमर सिंह द्वारा बचाए जाने के मुलायम के बयान को न सिर्फ बेवकूफी भरा बताया। उन्होंने कहा खोटे सिक्के (अमर सिंह) के लिए असली सिक्के (खुद रामगोपाल) को बाहर कर दिया।

अपने निष्कासन पर उन्होंने कहा कि सपा में नेताजी ने उन्हें चिट्ठी-विट्ठी लिखने के लिए रख लिया था, अब इसके लिए किसी और को रख लेंगे। इस दौरान रामगोपाल ने अमर सिंह पर सांसद और मुख्यमंत्री की पत्नी डिंपल यादव के खिलाफ साजिश रचने का भी आरोप लगाया। उन्होंने अखिलेश यादव के समर्थन में खड़े रहने की घोषणा की।

रामगोपाल यादव ने सवाल करते हुए कहा नेता जी कहते हैं अमर सिंह ने उन्हें जेल जाने से बचाया। मतलब अमर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट और सीबीआई को मैनेज कर लिया। खुद मुलायम ही नहीं समझ रहे कि वह क्या कह रहे हैं। नेताजी के मामले में कोर्ट अधिक से अधिक जांच का आदेश ही दे सकता था। रामगोपाल ने कहा कि यह वही अमर सिंह हैं जिसने डिंपल के खिलाफ साजिश रची। अपने करीबी चतुर्वेदी के जरिये सुप्रीम कोर्ट में डिंपल के खिलाफ जांच के लिए याचिका दायर कराई। चूंकि अदालत पहले ही डिंपल को छूट दे चुकी थी, ऐसे में यह मामला वैसे भी एक मिनट में ही खत्म हो जाना था।

इस दौरान रामगोपाल ने मुलायम के इस दावे का भी खंडन किया कि वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में मुलायम के नाम पर वोट मिले। उन्होंने कहा कि अखिलेश के दम पर सपा को स्पष्ट बहुमत मिला। गुंडों की छवि वाली पार्टी को अखिलेश ने नया रूप दिया। इसके बाद इनके खिलाफ साजिश शुरू हो गई। लोग अखिलेश से जलने लगे। मगर इसके बदले यह हुआ कि अमर सिंह और शिवपाल जैसे लोग जनता में अपराधी सिद्ध हो गए। जल्द ही इन्हें पता चलेगा कि जनता इनके साथ क्या सलूक करती है। यादव ने कहा कि सपा से निकाले जाने के बाद अन्य दलों ने अमर सिंह को घास नहीं डाली। रालोद से लड़े तो खुद 21000 और जयाप्रदा को 24000 वोट ही दिलवा सके।

Top Stories