Friday , November 24 2017
Home / Featured News / नेपाल मसले का हल जल्द सुलझाने की उम्मीद :सुषमा स्वराज

नेपाल मसले का हल जल्द सुलझाने की उम्मीद :सुषमा स्वराज

shushma

नई दिल्ली: वज़ीर खारजा सुषमा स्वराज ने नेपाल मुद्दे पर राज्यसभा में दिए अपने बयान में अपोज़ीशन पार्टीज़ के रवय्ये पर गहरी नाराज़गी का इज़हार किया|

उन्होंने कहा की, भारत बड़े भाई की तरह नेपाल की परेशानी का सियासी हल निकालने के लिए कोशिश कर रहा है, और एक हफ़्ते के अन्दर इसका हल निकल जाने की उम्मीद है। स्वराज ने नए आईन को लागू किए जाने के बाद, मधेसियों के ज़रिये की जा रही नाकाबंदी से पैदा होने वाले हालात के मद्देनजर भारत-नेपाल रिश्तों पर राज्यसभा में मुख़्तसर मुद्दत के लिए हुई बहस का जबाव देते हुए यह उम्मीद जाहिर की है |

भारत-नेपाल रिश्तों पर राज्यसभा में हुई मुख़्तसर मुद्दत के लिए हुई बहस का जबाव देते हुए कहा कि, “भारत नेपाल का रिश्ता बरसों नहीं सदियों पुराना है, उन्होंने इस बात की भी मुखालफत की कि मोदी हुकूमत के दौरान ये रिश्ते खराब हुए हैं” |

वज़ीर खारजा ने कहा कि, “जब नेपाल में ज़लज़ला आया तो भारत सबसे पहले मदद के लिए आगे बढ़ा था | हमने उनकी एक भाई की तरह मदद की और हम आज भी उनकी मदद के लिए तैयार हैं | भारत-नेपाल बार्डर पर बने हालातों को लेकर उन्‍होंने कहा कि, बार्डर पर भारत ने कोई ट्रक नहीं रूकवाए | हम उस मुल्क के साथ ऐसा क्‍यों करेंगे जिससे हमारे दोस्ताना रिश्ते हैं, हमने नहीं बल्कि मेधेशी आंदोलन की वजह से फिलहाल बॉर्डर पर 11 हजार ट्रक फंसे हुए हैं |”

दवाइयां और ज़रूरी सामान न पहुँचाने के इल्ज़ाम पर सुषमा ने कहा कि, अपोज़ीशन पार्टीज़ लगातार ये साबित करने की कोशिश कर रही हैं की हम (हुकूमत के लोग ) इंसानियत से गिरे हुए हैं |

उन्होंने कहा कि, ज़रूरी सामान को लेकर कल 864 ट्रक नेपाल गए जिनमें से 400 ट्रक दवाइयां भेजी गई हैं, और वहां के वज़ीर खारजा से ज़रूरी दवाइयों की लिस्ट मांगी गई थी, जो अब तक नहीं मिली है।
उन्होंने कहा कि, “भारतीय हुकूमत इंसानियत से गिरी हुई नहीं है कि वह वहां की अवाम जरूरतों को नहीं समझे और उसे दूर करने के इक़दामात न करे” |

TOPPOPULARRECENT