Saturday , December 16 2017

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के फ़ैसले पर रवी शंकर की सरकशी

नई दिल्ली: राज्य सभा में अपोज़िशन ने आज नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के फ़ैसले के ख़िलाफ़ आर्ट आफ़ लिवीइंग के बानी रवी शंकर की सरकशी पर तशवीश का इज़हार किया जबकि ट्रिब्यूनल ने दरयाए यमुना के इलाक़े में एक कल्चरल प्रोग्राम मुनाक़िद करने पर उनके इदारे के ख़िलाफ़ 5 करोड़ हर्जाना आइद किया है।

ऐवान में वक़फ़ा सिफ़र शुरू होते ही जनता दल मुत्तहदा के सरबराह शरद यादव ने ये मसला उठाया और कहा कि रवी शंकर ने नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के हुक्म को चैलेंज किया है और हर्जाना की रक़म अदा करने से इनकार कर दिया है। उन्होंने बताया कि ये एक संगीन मसला है और रवी शंकर को जेल भेजने के बजाय एनडीए हुकूमत उनकी सरपरस्ती कर रही है।

मिस्टर शरद यादव ने कहा कि 3 रोज़ा आलमी तहज़ीबी मेले में 35 लाख अफ़राद की शिरकत मुतवक़्क़े है। इस क़दर भारी हुजूम इकट्ठा होने पर सलामती का मसला पैदा हो सकता है। अपोज़िशन लीडर ग़ुलाम नबी आज़ाद के अलावा कांग्रेस, लेफ्ट और समाजवादी पार्टी के अरकान ने भी सीनियर लीडर की तरफ‌ से उठाए गए इस मसले से यगानगत का इज़हार किया।

साबिक़ वज़ीर माहौलियात और कांग्रेस रुकन जय‌ राम रमेश ने कहा कि आर्ट ऑफ लिविंग का प्रोग्राम से दरयाए यमुना के आबगीर इलाक़ों को नुक़्सान पहुँचेगा जैसा कि अक्षर धाम मंदिर और दौलत-ए-मुश्तरका खेलों के वक़्त हुआ था। नायब सदर नशीन पीजे कोरियन ने कहा कि ये मामला अदालत में ज़ेर-ए-समाआत है में कुछ नहीं करसकता जबकि तुम लोगों अपोज़िशन ने कोई नोटिस भी नहीं दी।

तरूण विजय‌ बीजेपी ने कहा कि कांग्रेस अक्षर धाम मंदिर की तामीर की मुख़ालिफ़त के बाद अब कल्चरल फेस्टिवल के ख़िलाफ़ हो गई है जिस पर मुमलिकती वज़ीर-ए-पार्लीमानी उमोर मुख़तार अब्बास नक़वी ने कहा कि ये एक ख़ालिस तहज़ीबी मेला है जिस पर वज़ीर-ए-आज़म भी शिरकत करेंगे।

उन्होंने एहतेजाजी अरकान से कहा कि’ मैं भी जा रहा हूँ, तुम भी चलो।’ और ये इद्दिआ किया कि रुहानी पेशवा माहौलियात के बारे में हस्सास होते हैं लिहाज़ा इस तरह के प्रोग्राम को सियासी रंग ना दिया जाये|

TOPPOPULARRECENT