Thursday , November 23 2017
Home / Khaas Khabar / नोटबंदी का असर- मोदी की परिवर्तन रैली फ्लॉप, बड़ी संख्या मे लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन

नोटबंदी का असर- मोदी की परिवर्तन रैली फ्लॉप, बड़ी संख्या मे लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन

उमर फ़ारूक़ अफरीदी, आगरा: परिवर्तन रैली के लिए आगरा पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्थानीय लोगों के काफी विरोध का सामना करना पडा । आगरा में जिस वक्त पीएम रैली स्थल पर प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की शुरुआत कर रहे थे, रैली स्थल से थोड़ी ही दूर गुस्साये लोग इसका विरोध करते रहे तथा प्रदर्शन में काले गुब्बारे हवा में उड़ा रहे थे। मंटोला तिराहे से जिला कांग्रेस की तरफ से काले गुब्बारे छोड़े गए। कांग्रेस पार्टी ने स्थानीय मुस्लिम संघर्ष समिति के साथ मिलकर मोदी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। जिला कांग्रेस अध्यक्ष दुष्यंत शर्मा और मुस्लिम संघर्ष समिति के नेता इरफान सलीम, समी आगई इसकी अगुवाई कर रहे थे।

15134637_1518081211554877_8224178962676808245_n

 

स्थानीय लोगों के हुजूम के साथ साथ दोनों दलों के लोग भी काले झंडे लेकर रैली स्थल की तरफ बढ़ रहे थे लेकिन बीच रास्ते में इन्हें हिरासत में ले लिया गया। पुलिस इन्हें हिरासत में लेकर पुलिस लाइन ले गई। मुस्लिम संघर्ष समिति के इरफान सलीम ने कहा कि नोट बंदी ने मरने को मजबूर कर दिया है। घर के चूल्हे ठंडे हो गए हैं। दो-दो दिन से खाना नहीं बन पा रहा है। बच्चों का इलाज नहीं हो पा रहा है। घर के बूढ़े सरकार ने बैंक की लाइन में लगवा दिए। इससे ज्यादा शर्म की बात हमारे लिए क्या‍ हो सकती है। वहीं जिला कांग्रेस अध्यक्ष दुष्यंत शर्मा ने कहा कि नोट बंदी के चलते गरीब दम तोड़ रहा है।लड़कियों के हाथ पीले नहीं हो पा रहे हैं। घर में खाने को नहीं है।मरीज बिना इलाज के मर रहे हैं। कानपुर में सुबह-सुबह सोते हुए ही लोग मौत के मुंह में चले गए लेकिन हमारे प्रधानमंत्री इतने पर भी आगरा में आकर सभा कर रहे हैं।

15135945_1518081248221540_8631031274490060577_n-1

स्थानीय लोगों ने नारे लगाकर मोदी की रैली पर गंभीर सवाल उठाते हुये कहा कि आगरा से २०० कि॰ मी॰ की दूरी ट्रेन हादसे में रैल मंत्रालय की लापरवाही से कई परिवार काल के गाल में समा गये और प्रधानमंत्री यहाँ अपने मुँह से अपना बख़ान कर रहे हैं। हमें ऐसा पीऐम नहीं चाहिये जिसके लिये किसी की ज़िदंगी और मौत से ज़्यादा अपनी रैली में बखान कर गुणगान करना प्राथमिकता रखता हो। लोगों ने कहा कि मोदी जी को पटना इंदौर रेल हादसे में मारे गये लोगों से थोडी भी हमदर्दी नहीं थी यदि होती तो वे उनको अपने भाषण में कहीं न कहीं स्थान देते पर उनके लिये तो सिर्फ अपने मुँह से अपनी वाहवाही करना ही अहम है। इसके साथ साथ जगह जगह जमा होकर भीड ने नारे लगाकर मोदी का विरोध करते हुये कहा कि मोदी जी आगरा में आपका ये विरोध तो अभी झांकी है अभी तो पूरा यूपी बाकी है ।

TOPPOPULARRECENT