नोटबंदी: चाय बागानों के मजदूर मजदूरी से वंचित, टी बोर्ड ने RBI में उठाया मामला

नोटबंदी: चाय बागानों के मजदूर मजदूरी से वंचित, टी बोर्ड ने RBI में उठाया मामला

नई दिल्ली: इंडियन टी बोर्ड ने चाय बागान के मजदूरों को वेतन का भुगतान करने के लिए पर्याप्त नकदी नहीं होने का मामला संबंधित राज्य सरकारों और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के सामने उठाया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

यूएनआई की खबरों के मुताबिक़ टी बोर्ड के चेयरमेन संतोष सारंगी ने रिजर्व बैंक के क्षेत्रीय अधिकारियों से बात की है और चाय बागानों के मजदूरों को वेतन का भुगतान करने के लिए पर्याप्त नकदी उपलब्ध कराने और इस संबंध में उचित कदम उठाने का अनुरोध किया है।टी बोर्ड ने मजदूरों की समस्याओं के संबंध में असम, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और केरल के मुख्य सचिवों को भी पत्र लिखा है।

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार द्वारा की गई नोटबंदी के बाद हालात बेहद खराब हो गए हैं। नोटबंदी का असर देश के हर वर्ग के लोगों पर पड़ा है लेकिन इससे सबसे प्रभावित हुए हैं देश के मजदूरी करने वाले लोग। कैश न होने के कारण छोटे-मोटे कारखानों में ताले लग रहे हैं जिस कारण मजदूरों को नौकरियों से निकाला जा रहा है।

सरकार ने 8 नवम्बर को नोटबंदी का फैसला लिया था। जिसके बाद से ही एटीएम और बैंकों के बाहर रोज लोगों की लंबी लाइनें देखने को मिलती हैं। सरकार के इस फैसले पर भी लगों की मिलीजुली प्रतिक्रिया है। लोगों का मानना है कि फैसला अच्छा है पर अचानक लिए जाने कि वजह से थोड़ी परेशानी हो रही है।

Top Stories