नोटबंदी: प्रधानमंत्री मोदी और RBI गवर्नर के खिलाफ केस दर्ज कराने पीड़ित खातेदार पहुंचा पुलिस स्टेशन

नोटबंदी:  प्रधानमंत्री मोदी और RBI गवर्नर के खिलाफ केस दर्ज कराने पीड़ित खातेदार पहुंचा पुलिस स्टेशन

नोटबंदी के फैसले से पीड़ित एक व्यक्ति ने प्रधानमंत्री और रिजर्व बैंक के गवर्नर के खिलाफ पुणे के एक पुलिस स्टेशन में लिखित शिकायत की है। शिकायतकर्ता स्टेट बैंक के खातेदार हैं और उन्होंने नोटबंदी के चलते पैसा नहीं मिलने के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गवर्नर उर्जित पटेल के खिलाफ कोंडवा पुलिस स्टेशन में शिकायत की है।

तौसीफ शेख का एसबीआई में सेविंग अकाउंट है और वो पेशे वकील हैं। तौसीफ कहना है कि बैंक किसी ग्राहक को अपने खाते की रकम निकालने से मना नहीं कर सकता। ग्राहक जब जरूरत पड़े अपना पैसा निकाल सकता है। तौसीफ शेख ने बताया कि उन्हें कुछ दिनों पहले 30 हजार रुपये निकालने की जरूरत पड़ी। इसके लिए उन्होंने बीते सोमवार को एसबीआई में अर्जी दी पर बैंक मैनेजर ने मांगी गई रकम देने से इंकार कर दिया। उनकी तरफ से कारण बताया गया कि रिजर्व बैंक की तरफ से इतनी बड़ी रकम का भुगतान न करने का आदेश है।

तौसीफ का मानना है कि बैंक में भरोसे के साथ रखी गई रकम वापस न मिलना और नोटबंदी की वजह से रकम नहीं दिया जाना विश्वासघात और अन्याय का प्रतीक है। उन्होंने प्रधानमंत्री और आरबीआई के गवर्नर के खिलाफ केस दर्ज कराने की मांग की है। उनका कहना है कि अगर केस दर्ज नहीं किया गया, तो वे शिवाजी नगर कोर्ट में केस दर्ज कराएंगे।

Top Stories