Friday , November 24 2017
Home / Delhi / Mumbai / नोटबंदी: राष्ट्रपति जनता को परेशानी से बचाने,मोदी का शर्मनाक फ्लॉप शो, देश विनाश के कगार पर: ममता बनर्जी

नोटबंदी: राष्ट्रपति जनता को परेशानी से बचाने,मोदी का शर्मनाक फ्लॉप शो, देश विनाश के कगार पर: ममता बनर्जी

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से आग्रह किया है कि वह नोटबंदी और उसके परिणाम में नकदी के संकट की वजह से जनता को मुश्किलों से बचाओ। उन्होंने दावा किया कि सीबीआई को उनकी पार्टी के खिलाफ लक्षित करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने राष्ट्रपति से इच्छा की सरकार के गलत फैसलों की वजह से देश विनाश के कगार पर पहुंच गया है तो उन्हें चाहिए कि जनता की सुरक्षा सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि अकाल शुरू हो चुका है और इसके संकेत मिल रहे हैं। इसलिए राष्ट्रपति से इच्छा है कि बतौर संवैधानिक मुखिया वे जनता को परेशानी से बचाने के। उन्होंने कहा कि अगर लोग नहीं बचेंगे तो कुछ नहीं होगा। उन्होंने आम आदमी से इच्छा है कि वे सदा विरोध बुलंद करें। इसके लिए कुछ कठिनाइया जरूर होंगी लेकिन किसी को चाहिए कि वह बिल्ली के गले में घंटी बांधे।

ममता बनर्जी ने कहा कि हमारे विरोध के कारण जो कठिनाइया जनता को पेश आ गयीं हम उन्हें दूर करने की कोशिश करेंगे। उन्होंने पहले नोटबंदी पर अपनी विरोध जारी रखते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज कहा कि लाखों जनता बेहद सख्त कठिनाइयों से गुजर रही हैं।

उन्होंने सभी सीमाएं खत्म करने की मांग की। ममता बनर्जी ने ट्वीट किया कि ” सीमाएं समाप्त होनी चाहिए, लाखों लोग कठिनाइयों से पीड़ित हैं और इसकी वजह है नोटबंदी ” उन्होंने एक और ट्वीट किया कि ” मोदी के इस शर्मनाक फ्लॉप शो नोटबंदी के खिलाफ तृणमूल कांग्रेस से देशव्यापी विरोध किया जा रहा है।

” ममता बनर्जी ने कहा कि बंगाल, भुवनेश्वर, पंजाब, किशनगंज (बिहार), मणिपुर, त्रिपुरा, असम, झारखंड और दिल्ली में आज से तीन दिन तक विरोध धरना आयोजित किया जाएगा। तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के कार्यालयों और कई जिलों में सीबीआई कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन करेंगे।

टीएमसी नेता और राज्य मंत्री शुभन देब चटोपाध्याय ने मीडिया के प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए कहा कि राष्ट्रपति तृणमूल कांग्रेस ने उन्हें निर्देश दिया है कि अपना लक्ष्य पूरा होने तक विरोध प्रदर्शन जारी रहे। उन्होंने कहा कि हमारा यह विरोध पिछले नहीं बल्कि अधिक यह सिलसिला जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि नोट करने के दो महीने में पश्चिम बंगाल की आय में 25 प्रतिशत की कमी आई है।

TOPPOPULARRECENT