Monday , December 18 2017

नोटों की गड्डी में पिन लगाने पर रोक

मुंबई, 14 मई: रिजर्व बैंक ने हिदायत दी है कि सभी बैंक नोट की गड्डी में स्टेपल का इस्तेमाल न करें और आवाम को साफ सुथरे नोट दें। रिजर्व बैंक ने अपने नोटिफिकेशन में कहा है कि बैंक इस बात का यकीनी बनाए कि नोट के पैकेट पेपर बैंड में दिए जाएं

मुंबई, 14 मई: रिजर्व बैंक ने हिदायत दी है कि सभी बैंक नोट की गड्डी में स्टेपल का इस्तेमाल न करें और आवाम को साफ सुथरे नोट दें। रिजर्व बैंक ने अपने नोटिफिकेशन में कहा है कि बैंक इस बात का यकीनी बनाए कि नोट के पैकेट पेपर बैंड में दिए जाएं।

बैंकों से कहा गया है कि वे अपने सत पर गंदे और कटे-फटे नोट की छंटाई करें और पब्लिक को सिर्फ साफ नोट जारी करें। नोटिफिकेशन में बैंकों को ताकीद की गई है कि वे नोट के सफेद वाटरमार्क वाली जगह पर कुछ भी न लिखें।

नोटिफिकेशन के हिसाब से रिजर्व बैंक के नोटिस में आया है कि बहुत सारे बैंक अभी भी नोट की गड्डियों में स्टेपल का इस्तेमाल करते हैं, नोट के वाटरमार्क पर लिखाई करते हैं जिससे कई बार नोट की शनाख्त खराब हो जाती है।

यह सारी चीजें बैंक की क्लीन नोट पॉलिसी के खिलाफ हैं। रिजर्व बैंक चाहता है कि आवाम को साफ सुथरे नोट जारी किए जाएं और गंदे और कटे-फटे नोट चलन से बाहर कर दिए जाएं।

रिजर्व बैंक के आंकड़े के मुताबिक , हर पांच नोट में से एक नोट यानी 20 फीसदी हर साल खराब हो जाते हैं जिन्हें चलन से बाहर किया जाता है।

31 मार्च 2012 को ख्त्म माली साल में खराब हो चुके नोट की तादाद 13 अरब से भी ज़्यादा थी। इसे देखते हुए नोट की लाइफ बढ़ाने के लिए रिजर्व बैंक प्लास्टिक के नोट जारी करने जा रहा है।

TOPPOPULARRECENT