नोटों के बजाय बैंक ने थमा दिए इम्तियाज़ आलम को 20 हजार रुपये के 15 किलो सिक्के

नोटों के बजाय बैंक ने थमा दिए इम्तियाज़ आलम को 20 हजार रुपये के 15 किलो सिक्के

नई दिल्ली। नोटबंदी के कारण लंबी लाइनों से आदमी इतना परेशान हो चुका है कि 20 हजार रुपये का चेक कैश कराने वाले एक व्यक्ति से जब बैंक कर्मचारी ने नोट की कमी होने की बात कहते हुए उसे उतनी राशि के सिक्के लेने की पेशकश की तो उसने तुरंत स्वीकार कर लिया।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार जसोला इलाके में जामिया कोओपरेटिव बैंक में लगभग चार घंटे तक लाइन में खड़े रहने के बाद 30 वर्षीय इम्तियाज़ आलम से बैंक के कोषाध्यक्ष ने जब नोटों के बदले 10 रुपये के सिक्के लेने की बात कही तो उस समय थके हारे आलम ने सिक्के लेने में एक क्षण की भी देर नहीं लगाई और उसने एक बैग में 10 रुपये के सिक्के भर लिए लेकिन उसके सामने अब समस्या 15 किलो 420 ग्राम वजन के इन सिक्कों को घर ले जाने का था।
इम्तियाज ने एक रक्शे वाले को बुलाया, जिसने उसे घर पहुंचाने के साथ ही सिक्का से भरे इस बैग को तीसरी मंजिल पर उसके घर के दरवाजे तक पहुंचाया। इम्तियाज़ अब इस चिंता में है कि वह इन सिक्कों को कैसे खर्च करेगा क्योंकि सिक्के जेब में रखने में परेशानी होगी लेकिन चार साल की बेटी के लिए ये सिक्के खिलौने से कम नहीं हैं और वे इतने सिक्के देखकर बहुत खुश है।
इम्तियाज ने इन सिक्कों के साथ अपनी तस्वीर अपने फेसबुक वॉल पर अपलोड कर दिया है और यह खबर चर्चा का विषय बनी हुई है।

Top Stories