नोटों पर बैन आधुनिक युग में तुगलकी फरमान है- कांग्रेस

नोटों पर बैन आधुनिक युग में तुगलकी फरमान है- कांग्रेस
Click for full image

नई दिल्ली। कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने मंगलवार को केंद्र सरकार के उस निर्णय को गरीब जनता पर वज्रपात करार दिया, जिसके तहत 500 रुपये और 1000 रुपये के नोट अवैध घोषित कर दिए गए हैं। तिवारी ने इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आधुनिक समय का तुगलक करार दिया।

तिवारी ने कई सारे ट्वीट में कहा कि आबादी का बड़ा हिस्सा नकदी पर निर्भर रहता है और उसे बैंकिंग सुविधा सुलभ नहीं है। “मोहम्मद बिन तुगलक ने 500/1000 रुपये के नोट रद्द कर दिए। इसके बाद देश की राजधानी दिल्ली से दौलताबाद ले जाई जाएगी। तुगलक की आत्मा पुनर्जीवित हो गई है।”

कांग्रेस नेता ने कहा, “आधुनिक समय के तुगलक ने देश की गरीब जनता पर एक वज्रपात किया है। आज का 500 रुपया 20 वर्ष पहले के 100 रुपये के बराबर है।”
मोहम्मद बिन तुगलक मध्यकालीन भारत में एक शासक था, जो राजधानी को दिल्ली से दक्षिण में दौलताबाद स्थानांतरित करने, और मुद्रा बदलने के अपने सनकपूर्ण निर्णयों के लिए जाना जाता था। लेकिन उसका निर्णय हमेशा गलत साबित होता था।

तिवारी ने कहा कि देश की 65 प्रतिशत आबादी कृषि पर निर्भर है, जो करमुक्त है और नकदी पर निर्भर है। उसके पास कोई बैंकिंग सुविधा या क्रेडिट कार्ड की सुविधा नहीं है

Top Stories