नोट बंदी से मरने वालों की संख्या आतंकवादी हमलों के मृतकों से अधिक: उद्धव ठाकरे

नोट बंदी से मरने वालों की संख्या आतंकवादी हमलों के मृतकों से अधिक: उद्धव ठाकरे
Click for full image

मुंबई: (सियासत उर्दू) शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा है कि केंद्र सरकार के नोट बैन करने के कारण देश भर में इतने लोग मरे हैं जो आतंकवादी हमलों से भी अधिक हैं. उनहोंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री देवेंद्र फरनवीस को चुनौती दी कि वे संयुक्त रूप से इस मुद्दे पर उनसे मुकाबला करें.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उद्धव ठाकरे ने कहा कि आतंकवादी हमलों से मरने वालों की संख्यां उतनी नहीं है जबकि नोट बंदी करने के फैसले से मरने वालों की संख्या अधिक है. देश में इस आतंकवादी हमले की शुरुआत किसने की. उन्होंने कहा कि मोदी और फरनवीस को संयुक्त रूप से मेरा मुकाबला करना चाहिए. अगर वह जीत गए तो मैं इस अध्याय को हमेशा के लिए बंद कर दूँगा.

बता दें की इस से पहले भी उद्धव ठाकरे ने कहा था कि नोट बंदी से हुए मौत को सरकार देश भक्ति बता रही है. आगे चलकर महंगाई, बेरोजगारी और मंदी से मरने वालो की संख्या लाखों में भी हो जाए तो भी सरकार यही कहेगी की यह देश भक्ति से मरने वाले लोगों का बलिदान है. अगर ऐसे ही चलता रहा तो एक दिन पुरे देश को ही शहीद कहने की नौबत आ सकती है.

Top Stories