Saturday , November 18 2017
Home / Bihar News / नौकरानी को सलाखों से दागा

नौकरानी को सलाखों से दागा

पटना 3 जुलाई : साबिक़ आइएएस अफसर ललन सिंह, उनकी बीवी प्रभा सिंह और उनके बॉडीगार्ड ने 15 साल की नौकरानी रीता के साथ बेरहमी की सारी हदें पार कर दीं। रीता ने इलज़ाम लगाया है कि उसके अंदरूनी हिस्से समेत कई शअबों को लोहा गरम कर दागा गया। इतन

पटना 3 जुलाई : साबिक़ आइएएस अफसर ललन सिंह, उनकी बीवी प्रभा सिंह और उनके बॉडीगार्ड ने 15 साल की नौकरानी रीता के साथ बेरहमी की सारी हदें पार कर दीं। रीता ने इलज़ाम लगाया है कि उसके अंदरूनी हिस्से समेत कई शअबों को लोहा गरम कर दागा गया। इतने से भी मन नहीं भरा, तो मारपीट कर पत्थर के लोढ़े से हमला कर बांया हाथ तोड़ दिया। उसकी आंखों में भी काफी चोटें आयी हैं। गरम लोहे से दागे जाने की वजह से रीता के पैर, पीठ, पेट, छाती और अंदरूनी हिस्से में जलने का निशान हैं।

वाकिया के बाद रीता किसी तरह साबिक़ आइएएस अफसर के बोरिंग रोड वाक़ेय राज लक्ष्मी अपार्टमेंट से 30 जून को भाग निकली। भाग कर वह अपने गांव परसा बाजार थाने के एतवारपुर पहुंची। उसने वाकिया की जानकारी अपने अहले खाना को दी। इसके बाद रीता को लेकर उसका भाई राजकुमार और वाल्दा मीना देवी बुद्धा कॉलोनी थाने में एक जुलाई की शाम पहुंचे और वाकिया की जानकारी दी।

पुलिस ने रीता को जख्मी देख कर कुछ देर के लिए इसे सड़क हादसा मान लिया और उसे फौरन इलाज के लिए इनकों टैक्स गोलंबर वाक़ेय गार्डिनर अस्पताल भेज दिया। वहां से लौटने के बाद जब पुलिस ने मां मीना देवी से वाकिया के सिलसिले में बयान लिया, तो उसके भी होश उड़ गये। इसके बाद आला अफसरों के हिदायत के बाद मीना देवी के बयान को खातून थाने भेज दिया गया।

बयान की बुनियाद पर ख्वातीन थाने में साबिक़ आइएएस ललन सिंह, उनकी बीवी प्रभा सिंह और बॉडीगार्ड के खिलाफ आइपीसी की धारा 341/323/307/325/326/354/34 व 22 (ए) एमडब्ल्यूए (मेंटेनेंस वेलफेयर एक्ट) के तहत सनाह दर्ज कर ली गयी है। इधर, मामला दर्ज होने के बाद बुद्धा कॉलोनी थाना इंचार्ज संजय कुमार और ख्वातीन थाना इंचार्ज मृदुला कुमारी की टीम ने राजलक्ष्मी अपार्टमेंट में छापेमारी की, लेकिन फ्लैट में ताला लटका था।

TOPPOPULARRECENT