नौजवानों में मक़बूल अनर्जी ड्रिंक्स में कैफीन की ज़ाइद मिक़दार सेहत के लिए नुक़्सानदेह

नौजवानों में मक़बूल अनर्जी ड्रिंक्स में कैफीन की ज़ाइद मिक़दार सेहत के लिए नुक़्सानदेह
हैदराबाद १६मार्च (सियासत न्यूज़) मार्किट में दस्तयाब ,तवानाई और ताक़त फ़राहम करने वाले मशरूबात ,क्या वाक़ई तवानाई फ़राहम करते हैं?ये एक ऐसा सवाल है जिसका जवाब मौजूदा दौर के नौजवान नसल के लिए जानना बेहद ज़रूरी ही।ख़ास कर एक ऐसे वक़

हैदराबाद १६मार्च (सियासत न्यूज़) मार्किट में दस्तयाब ,तवानाई और ताक़त फ़राहम करने वाले मशरूबात ,क्या वाक़ई तवानाई फ़राहम करते हैं?ये एक ऐसा सवाल है जिसका जवाब मौजूदा दौर के नौजवान नसल के लिए जानना बेहद ज़रूरी ही।ख़ास कर एक ऐसे वक़्त जबकि बे शुमार नौजवान बिलख़सूस जिम जा कर वरज़िश करने वाले नौजवान बेधड़क अनर्जी ड्रिंक इस्तिमाल कररहे हैं।मसला ये है कि इश्तिहारी मुहिम से मुतास्सिर होकर अनर्जी ड्रिंक्स इस्तिमाल करने वाले अक्सर नौजवान ( और ख़वातीन भी ) ये ख़्याल करते हैं कि वरज़िश के बाद अनर्जी ड्रिंक्स उन्हें तवानाई फ़राहम करता ही,मगर हक़ीक़त ये है कि कोई भी तवानाई बख़श ड्रिंक्स,ख़ुराक का नियम-उल-बदल नहीं होसकता,और ना ही वरज़िश के बाद इस किस्म के ड्रिंक्स जिस्म में नमकियात वग़ैरा की बहाली में मदद फ़राहमकरसकते हैं बल्कि माहिरीन के मुताबिक़ ,कैफीन और शुक्र से बने हुए ये मशरूबात ,इंसानी जिस्म मेंehydration का सबब भी बन सकते हैं।

आरज़ा-ए-क़्लब के माहिर , डाक्टरख़ालिद ग़ुलाम मुही उद्दीन के मुताबिक़ ये सच्च है कि मार्किट में दस्तयाब अनर्जी ड्रिंक्स के इस्तिमाल करते ही जिस्म में तवानाई और क़ुव्वत का एहसास जाग उठता है और उसे इस्तिमाल करने के बाद एहसास थकन दूर हो जाती ही.मगर ये भी सच्च है कि तवानाई का ये आरिज़ी एहसासदर असल ऐसे अफ़राद को दीमक की तरह चाट लेता है औरउन्हें एहसास भी नहीं होता।डाक्टर ख़ालिद साहिब के मुताबिक़ ,इस किस्म के अनर्जी ड्रिंक्स की तैय्यारी केलिए सब से अहम चीज़ कैफीन है ,कैफीन की सब से अहम ख़ासीयत ये है कि ये इंसान के आसाबी निज़ाम को ज़्यादा तेज़ी के साथ मुतहर्रिक ओरफ़ाल करदेती ही।,जबकि कैफीन और शुक्र के मुनासिब इमतिज़ाज से तैय्यार होने वाला कोई भी मशरूब इस्तिमाल करने के बाद इंसान फ़ौरी तौर पर ख़ुद को तवाना और चाक वचोबनद महसूस करता हैं।

लेकिन जब वो ऐसे ड्रिंक्स इस्तिमाल करना बंद कर दें तो उमूमन ऐसा होताहै कि जिस्म में शूगर कीशदीद कमी होजाती है जिसके नतीजे में अनर्जी ड्रिंक्स दुबारा तलब महसूस होती ही।दूसरे लफ़्ज़ों में ये कहा जा सकता है कि अनर्जी ड्रिंक्स इस्तिमाल करते करते लोग Addictionका शिकार होजाते हैं।दूसरी तरफ़ एक हालिया तहक़ीक़ मेंभी इस हक़ीत का इन्किशाफ़ किया गया है कि नौजवान लड़के और लड़कीयों में तेज़ी से मक़बूलियत हासिल करने वाले अनर्जी ड्रिंक्स का इस्तिमाल दिल का दौरा,फ़ालिज,और अचानक मौत का सबब भी बन सकता ही।तहक़ीक़ के मुताबिक़ ,अनर्जी ड्रिंक्स में चूँकि ,कैफीन की मिक़दार दीगर साफ़्ट ड्रिंक्स की बनिस्बत पाँच गुना ज़ाइद होती है जो फ़िशार ख़ून में इज़ाफ़ा का सबब बनती ही।रिपोर्ट के मुताबिक़ ,अनर्जी ड्रिंक्स में तवानाई को फ़ौरी बढ़ाने केलिए ऐसे कई अजज़ा शामिल किए जाते हैं जिनके असरात के हवाले से कोई दरुस्त मालूमात भी मौजूद नहीं ही। बहरहाल कैफीन के गै़रज़रूरी और मुसलसल इस्तिमाल से सेहत को होने वाले नुक़्सानात के बारे में डाक्टर साहिब का कहना है कि कैफीन के मुज़िर असरात में ,ब्लड प्रैशर में कमी ,सर चकराना,शदीद घबराहट, दिल की धड़कन में बे क़ाईदगी ,निज़ाम हज़म में ख़राबी और बे ख़ाबी या नींद का ना आना शामिल हैं

बहरहाल माहिरीन सेहत का कहना है कि अगर आपको वाक़ई तवानाई हासिल करने की शदीद ज़रूरत है तो साफ़ सुथरा पानी ,ख़ालिस दूध ,सादा ग़िज़ा,और हल्की फुल्की वरज़िश से भी तवानाई हासिल की जा सकती ही,ख़ासकर ऐसी सूरत में जब मार्किट में दस्तयाब अनर्जी ड्रिंक्स मंगा भी है और मुज़िर सेहत भी।

Top Stories