Sunday , December 17 2017

न्यूक्लीयर तआवुन बरक़रार रखने रूस को वज़ीर-ए-आज़म का तीक़न

मास्को, १६ दिसम्बर: (आमिर अली ख़ान) वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने आज रूस को तीक़न दिया है कि हिंदूस्तान बाहमी न्यूक्लियर तआवुन पर अपने तमाम वादों और अह्द को पूरा करेंगे जबकि कोड़नकुलम न्यूक्लीयर प्रोजेक्ट के ताल्लुक़ से अवाम की तशवीश और

मास्को, १६ दिसम्बर: (आमिर अली ख़ान) वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने आज रूस को तीक़न दिया है कि हिंदूस्तान बाहमी न्यूक्लियर तआवुन पर अपने तमाम वादों और अह्द को पूरा करेंगे जबकि कोड़नकुलम न्यूक्लीयर प्रोजेक्ट के ताल्लुक़ से अवाम की तशवीश और सलामती मसला को भी अव्वलीन तर्जीह दी जाएगी।

मास्को का दौरा करने से क़बल तमिलनाडू में रूस के तआवुन से शुरू करदा प्रोजेक्ट के मुक़ाम पर मुख़ालिफ़ न्यूक्लीयर एहतिजाज के दरमयान मनमोहन सिंह ने कहा कि इन की हुकूमत इस ताल्लुक़ से अवाम की तशवीश को संजीदगी से लेगी लेकिन हिंद-रूस ऐटमी तआवुन भी जारी रहेगा।बारहवीं सालाना हिंद।रूस चोटी कान्फ़्रैंस में शिरकत के लिए तीन रोज़ा दौरा पर रवानगी के दौरान तवक़्क़ो है कि वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह 7 ता मुआहिदों पर दस्तख़त करेंगे।

तिजारत, दिफ़ा और तवानाई के शोबों में तआवुन को वुसअत दी जाएगी। ताहम कोड़नकुलम में रूसी साख़ता दो मज़ीद रीऐक्ट्रस की तामीर के लिए मुआहिदों पर दस्तख़त ग़ैर मुतवक़्क़े है। अगर चूँकि इस सिलसिला में मुज़ाकरात का मरहला अपने आख़री दौर में पहुंच चुका है।

मास्को रवाना होने से क़बल रूसी मीडीया को इंटरव्यू देते हुए मनमोहन सिंह ने कहा कि तिजारत और सनअती तआवुन दोनों मुल्कों केलिए वक़्त का तक़ाज़ा बन गया है। कोड़नकुलम में एहतिजाज के बाइस अवाम के अंदर पैदा होने वाली तशवीश ज़ाहिर हो चुकी है लेकिन न्यूकलीयर तवानाई की सलामती से मुताल्लिक़ हम अवाम की तशवीश को दूर करेंगी।

मनमोहन सिंह ने इस बात की निशानदेही की कि इस सिलसिला में माहौल को बेहतर बनाया जाएगा और मुक़ामी अवाम के रोज़गार से मुताल्लिक़ पाई जाने वाली तशवीश को दूर किया जाएगा। उन्हों ने कहा कि हुकूमत ने मुक़ामी अफ़राद की जायज़ तशवीश और अंदेशों को दूर करने केलिए माहिरीन का एक आज़ाद ग्रुप तशकील दिया है। ताहम उन्हों ने कहा कि रूस मुश्किल हालात में हिंदूस्तान का साथी रहा है, इसवक़्त भी जब हिंदूस्तान के साथ न्यूक्लीयर तिजारत पर पाबंदीयां आइद की गई थीं रूस ने हमारा साथ दिया, और नई दिल्ली भी मास्को के साथ इस शोबा में अपने अह्द का पाबंद है।

न्यूक्लीयर शोबा में हिंद।रूस तआवुन का जहां तक ताल्लुक़ है ये तआवुन बरक़रार रहेगा और हम अपने अज़ाइम और अह्द को पूरा करेंगे। मनमोहन सिंह ने कहा कि हिंदूस्तान ने न्यूक्लियर सलामती को अव्वलीन तर्जीह दी है। इन का ख़्याल है कि रूसी क़ियादत भी इसी मयारात से वाबस्ता होगी।

वज़ीर-ए-आज़म ने कहा कि अगर हममुल्क में न्यूक्लीयर तवानाई को फ़रोग़ दे रहे हैं तो इस के लिए ज़रूरी है कि ये तवानाई अवाम की ताईद से हासिल की जाये। रूस के साथ हिंदूस्तान के ताल्लुक़ात वक़्त की कसौटी पर खरे उतरे हैं। आलमी मईशत के अहया, ब्रेकस ममालिक में तआवुन, मशरिक़ी एशीया और शुमाली अफ़्रीक़ा की सूरत-ए-हाल और अफ़्ग़ानिस्तान में चैलेंज्स जैसे आलमी मसाइल पर दोनों ममालिक के दरमयान यकसाँ ख़्यालात का तबादला किया जाएगा।

अफ़्ग़ानिस्तान में हालात मुश्किल दूर से गुज़र रहे हैं इस मुल्क में अमन-ओ-इस्तिहकाम अहम काम बना हुआ है। हिंदूस्तान और रूस इस सूरत-ए-हाल पर बाक़ायदा मुशावरत करेंगे। हर कोई ये देखने का ख़ाहिशमंद है कि अफ़्ग़ानिस्तान में दहश्तगर्दी ख़तम् हो जाये।

TOPPOPULARRECENT