न्यूजीलैंड मस्जिद हमले में हैदराबाद के शख्स की मौत, असदुद्दीन ओवैसी का भावुक ट्वीट

न्यूजीलैंड मस्जिद हमले में हैदराबाद के शख्स की मौत, असदुद्दीन ओवैसी का भावुक ट्वीट

वेलिंगटन: हैदराबाद के अहमद इकबाल जहांगीर न्यूजीलैंड के मस्जिद हमले में मारे गए हैं। इस खबर के भारत पहुंचते ही परिवार में शोक में डूब गया। हमले के बाद घायल इकबाल कई घंटों तक अस्पताल में जीवन मौत से संघर्ष करते रहे।

शोक संतप्त परिवार ने केंद्र और तेलंगाना सरकार से वीजा प्रक्रिया में तेजी लाने की अपील की है। दिवंगत इकबाल जहांगीर की मां ने संवावदाताओं से बात करते हुए बताया कि उनका बेटा बीते 12 सालों से न्यूजीलैंड में रह रहा था। वहां वो एक रेस्टोरेंट का मालिक था जिसमें हैदराबादी डिशेज मिलती हैं। हमले के वक्त इकबाल जहांगीर जुम्मे की नमाज अदा कर रहे थे। इस हमले में जहांगीर के दोस्तों की भी मौत हो गई है।

इस बीच हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने घटना पर गहरा दुख जताया है। AIMIM मुखिया ने न्यूजीलैंड जाकर परिजनों को ढांढस बताने की बात कही है। साथ ही ओवैसी ने तेलंगाना सरकार से परिवार की हरसंभव मदद की गुजारिश की है।

असदुद्दीन ओवैसी इस दुखद घटना से भावुक नजर आए। ओवैसी के ट्वीट पर बड़ी संख्या में लोगों ने प्रतिक्रिया देते हुए शोक का इजहार किया है।

जहांगीर के परिवार में उनकी पत्नी के साथ दो मासूम बच्चे हैं जिनकी उम्र 3 और 5 साल बताई जाती है। 6-7 महीने पहले जहांगीर हैदराबाद आए थे। इसके बाद परिवार के सदस्यों से उनकी कोई मुलाकात नहीं हो पाई।

वहीं न्यूजीलैंड में भारत के उच्चायुक्त ने शुक्रवार को कहा कि यहां क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों पर हमलों में प्रभावित कोई भी भारतीय नागरिक मदद के लिए मिशन से संपर्क कर सकता है।

मध्य क्राइस्टचर्च की अल नूर मस्जिद और शहर के बाहरी उपनगर में लिनवुड मस्जिद पर हमलों में कम से कम 49 लोग मारे गये। मिशन ने घटना पर दुख जताते हुए मदद के लिए दो फोन नंबर भी ट्वीट किये जिन पर संपर्क किया जा सकता है। इनमें 021803899 और 021850033 हैं।

बता दें कि न्यूजीलैंड में तकरीबन दो लाख भारतीय और भारतीय मूल के लोग रहते हैं। भारतीय उच्च आयोग के आंकड़ों के अनुसार इस देश में 30 हजार से अधिक भारतीय छात्र हैं।

Top Stories