Wednesday , May 23 2018

न्यू लाईफ़ हॉस्पिटल चादर घाट की नई इमारत में आज इफ़्तिताह

हैदराबाद। 6 जनवरी ( सियासत न्यूज़) न्यू लाईफ़ हॉस्पिटल चादर घाट ने अपनी ख़िदमात के 10 साल मुकम्मल करलिए हैं। इस पुरमोसरत मौक़ा पर हॉस्पिटल अपने नए बलॉक का आग़ाज़ करने जा रहा है जो एक लाख 30 हज़ार इसकोवाइर फिट पर मुश्तमिल है, इस शानदार

हैदराबाद। 6 जनवरी ( सियासत न्यूज़) न्यू लाईफ़ हॉस्पिटल चादर घाट ने अपनी ख़िदमात के 10 साल मुकम्मल करलिए हैं। इस पुरमोसरत मौक़ा पर हॉस्पिटल अपने नए बलॉक का आग़ाज़ करने जा रहा है जो एक लाख 30 हज़ार इसकोवाइर फिट पर मुश्तमिल है, इस शानदार इमारत में तमाम शोबा जात को असरी सहूलयात से लैस किया गया है, जिस का इफ़्तिताह 6जनवरी को शाम 5बजे शाम सदर नशीन न्यू लाईफ़ हॉस्पिटल जनाब मुहम्मद महमूद अली ख़ां के हाथों अमल में आएगा।

आज न्यू लाईफ़ हॉस्पिटल चादर घाट में मुनाक़िदा एक प्रैस कान्फ़्रैंस में डायरैक्टरस डाक्टर मुहम्मद मसऊद अली ख़ां, मिस्टर मुहम्मद अहसन उल्लाह ख़ान के इलावा डाक्टर प्रसाद और डाक्टर शाकरा ने ये बात बताई। उन्हों ने कहा कि न्यू लाईफ़ हॉस्पिटल का क़ियाम 2002-में अमल में लाया गया था और इस हॉस्पिटल की ख़िदमात पर अवाम का इतमीनान बख़श रद्द-ए-अमल हासिल होरहा है, जो भी मरीज़ यहां ईलाज केलिए आते हैं वो शिफ़ा-ए-याब होकर लौटते हैं।

उन्हों ने अवामके हौसला अफ़ज़ा-ए-रद्द-ए-अमल पर इज़हार-ए-तशक्कुर किया और कहा कि उन्ही की हौसलाअफ़्ज़ाई से न्यू लाईफ़ हॉस्पिटल चादर घाट ने पुराने शहर में अपना एक मुनफ़रिद मुक़ाम बनालिया है।न्यू लाईफ़ मल्टी एसपीशालीटी हॉस्पिटल क़लब शहर में वाक़्य है और अब इस में 250बिस्तरों की सहूलत दस्तयाब है। ये दवाख़ाना कई मुख़्तलिफ़ ख़ुसूसी माहिरीन की ख़िदमात के साथ मल्टीपल एसपीशलाइज़ हॉस्पिटल है जिस में कार्डयालोजी, नैवरउल्लूजी, नीफ़रालोजी, गैस्ट्रो ऐंटरालोजी, गावना कालूजी, पीडियाट्रिक की सहूलत है। माहिर डाक्टरों की टीम अच्छि तर्बीयत याफ़ता नीम तिब्बी अरकान अमला के साथ मरीज़ों की ख़िदमात केलिए हाज़िर है। दवाख़ाना में हर किस्म के एमरजैंसी केसेस केलिए बेहतरीन आलात मौजूद हैं। इस को दो शोबों A और B मैं तक़सीम किया गया है।

एक शोबा खासतौर पर तिब्बी एमरजैंसी जैसे हादिसात केलिए मुख़तस है। दिमाग़ पर हमला, क़लब की देख भाल, एमरजैंसी और आम ऑपरेशंस वग़ैरा इस में शामिल हैं। शोबा B मुकम्मल तौर पर माँ और बच्चा के लिए वक़्फ़ है। हॉस्पिटल का बुनियादी मक़सद 24घंटे ख़वातीन और अतफ़ाल के ईलाज की सहूलत फ़राहम करना, माँ और नोमोलूद की बेहतर तिब्बी ख़िदमात की फ़राहमी है। कुहना मरीज़ों के ईलाज के लिए डाक्टर शाकिरा एम डी, डी जी ओ जो साबिक़ मैं सुपरनटनेनट गर्वनमैंट मैटरनिटी हॉस्पिटल रह चुकी हैं

और उन के साथीयों पर मुश्तमिल अलहदा शोबा क़ायम है। अमराज़ इतफ़ाल के ईलाज के माहिर डाक्टर फ़हीम डी एन बी ऐम एन ए ऐम ऐस ( पीडीया) की ज़ेर क़ियादत क़ाबिल और मुख़लिस डॉक्टर्स की एक टीम हर किस्म की हंगामी तिब्बी ख़िदमात की फ़राहमी के लिए 24घंटे दस्तयाब रहती हैं। दवाख़ाना में मुख़्तलिफ़ शोबा जात एन आई सी यू, पी आई सी यू हैं ये शोबे बच्चों के आलात तनफ़्फ़ुस और माहिर डॉक्टर्स की टीम के साथ हर वक़त बच्चों के ईलाज के लिए तैय्यार रहते हैं। इन तमाम सहूलतों के बावजूद इस दवाख़ाना में ख़र्च इंतिहाई कम होता है।

TOPPOPULARRECENT