न कोई भगवान है और न ही कोई हमारी किस्मत लिखता है : स्टीफन हॉकिंग

न कोई भगवान है और न ही कोई हमारी किस्मत लिखता है : स्टीफन हॉकिंग
Click for full image

नई दिल्ली : नास्तिक माने जाने वाले खगोलशास्त्री स्टीफन हॉकिंग ने अपनी आखिरी किताब में लिखा है भगवान कहीं नहीं है किसी ने दुनिया नहीं बनाई और कोई हमारी किस्मत नहीं लिखता है।

हॉकिंग की इस किताब में कई यूनिवर्स के बनने, एलियन इंटेलिजेंस, स्पेस कोलोनाइजेशन और आर्टिफिशयल इंटेलिजेंस जैसे कई जरूरी सवालों के जवाब दिए गए हैं।

अपनी इस आखिरी किताब में हॉकिंग ने चौकाने वाली कई बातें लिखी हैं। कई बड़े सवालों के जवाब भी इस किताब में दिए हैं। हॉकिंग ने भगवान शब्द का प्रयोग गैर निजी तरीके से किया है।

लॉ ऑफ नेचर को समझना ही भगवान के दिमाग को समझना है। किताब में लिखा गया है कि इस सदी के खत्म होते-होते हम भगवान के दिमाग के समझने लगेंगे।

हॉकिंग के मुताबिक, यूनीवर्स कभी न खत्म होने वाला फ्री लंच है।स्टीफन का मानना है कि अगर यूनिवर्स कुछ नया नहीं जोड़ता तो आपको इसे बनाने के लिए भगवान की जरूरत ही नहीं है। इसी साल मार्च में हॉकिंग का निधन हो गया था।

आस्था के सवाल पर उन्होंने कहा कि हम जो चाहते हैं, मानने के लिए स्वतंत्र हैं। उनका मानना है कि कोई भगवान नहीं है और किसी ने दुनिया को नहीं बनाया और ना ही हमारी किस्मत कोई लिखता है।

हॉकिंग की इस किताब को जॉन मूरा ने प्रकाशित किया है इस एक किताब में कई बड़े सवालों के जवाब हैं। उनकी किताब में लिखा है, ‘सदियों से लोग यह मानते हैं कि है कि मेरे जैसे डिसेबल लोगों पर भगवान का श्राप होता है।

लेकिन मेरा मानना है कि मैं कुछ लोगों को निराश करूंगा लेकिन मैं यह सोचना ज्यादा पसंद करूंगा कि हर चीज की व्याख्या दूसरे तरीके से की जा सकती है । हॉकिंग की किताब का नाम

‘ क्या वहां भगवान है? is There a God’

Top Stories