Sunday , December 17 2017

पंकजा मुंडे फिर मुसीबत में …. मुलाज़िम से उठवाई चप्पलें

नई दिल्लीः महाराष्ट्र की देही तरक्कियाती की वज़ीर पंकजा मुंडे के चप्पल उनके एक मुलाज़िम के हाथ में दिखने के बाद वह एक बार फिर से तनाज़ो में घिर गई हैं. पंकजा अपने रियासत के खुश्क साली इलाकों के दौरे पर गईं थीं, उसी दौरान उनके मुलाज़िम ने उनकी चप्पलें उठाईं.

तनाज़े में घिरने के बाद पंकजा ने अपना बचाव करते हुए कहा कि, ‘चप्पल उठाने वाला शख्स कोई सरकारी मुलाज़िम नहीं, बल्कि उनका ज़ाती मुलाज़िम था.’

दरअसल पंकजा ने रियासत के परभानी जिले के सोनपेठ के दौरे के दौरान कीचड़ और फिसलने वाली जगह देखकर अपनी चप्पलें उतार दी. वह नंगे पांव आगे बढ़ गईं और पीछे से एक शख्स उनकी चप्पलें लेकर चल रहा था.

इस खबर के उजागर होने के बाद आगबबूला होते हुए पंकजा ने कहा कि, ‘मीडिया ने देखा कि मैंने चप्पल उतारी, और मेरे मुलाज़िम ने उठाया. लेकिन मीडिया को यह नहीं दिखा कि नंगे पांव चलने में मुझे कितनी तकलीफ हुई? फिसलन भरी सड़क देखकर मैंने अपनी चप्पल उतार दी और आगे बढ़ गईं. मुझे तो पता भी नहीं था कि किसी ने मेरे चप्पल उठाए. इस बात का मुझे बाद में पता चला. असली खबर सूखा और किसानों की हालत है.’

वहीं कांग्रेस ने मज़ाक उड़ाते हुए कहा है कि ये वाकिया यह बताती है कि पंकजा गरीबों का दुख कितना समझती हैं.

पंकजा मुंडे पर 206 करोड़ के घोटाले का इल्ज़ाम है. उन परइल्ज़ाम है कि उन्होंने कायदे कानून को ताक पर रखकर अपनी पसंद की कंपनियों को स्कूल में खाना सप्लाई करने का ठेका दिया. कांग्रेस ने इस मुद्दे पर पंकजा मुंडे से इस्तीफा मांग करती रही है, वहीं पकंजा का कहना है कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है.

दरअसल पंकजा मुंडे के वज़ारत में एक ही दिन में 206 करोड़ की खरीददारी हुई है जिसमें कबायली स्टूडेंट्स के लिए चिक्की, किताबें, वॉटर फिल्टर जैसी चीजें खरीदी गईं. बाद में खुलासा हुआ कि ये सारी खरीददारी बिना किसी टेंडर के हुई है जबकि रियासत की हुकूमत के नियम के मुताबिक एक लाख से ऊपर की सरकारी खरीद के लिए ई टेंडर निकालना जरुरी है.

कांग्रेस ने पंकजा मुंडे के मामले की शिकायत एंटी करप्शन ब्यूरो से की है और उसका दावा कि पंकजा के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं. दूसरी तरफ मरहूम गोपनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे ने इस मुद्दे पर सफाई देते हुए कहा है कि ख़्वातीन और बच्चों की तरक्कियाती की वज़ारत में जो खरीददारी की गई है वो मरकज़ी हुकूमत के डायरेक्टर जनरल ऑफ सप्लाईज एंड डिस्पोजल्स के नियमों के मुताबिक किया गया है.

*****************************बशुक्रिया: एबीपी न्यूज़********************************

TOPPOPULARRECENT