पंडाल व जुलूस के लिए लाइसेंस जरूरी

पंडाल व जुलूस के लिए लाइसेंस जरूरी

 

गोपालगंज : एसेम्बली इंतिख़ाब से पहले त्योहार पुलिस के लिए अग्निपरीक्षा जैसे हैं। इस महीने के आखिरी हफ्ते में दुर्गापूजा व मुहर्रम के त्योहार हैं। इंतिखाबी मौसम में आपसी भाईचारा और अमन बनाये रखने के मकसद से पुलिस इंतेजामिया को हर कदम होशियारी से उठाने की जरूरत है। एसपी निताशा गुड़िया ने इस सिलसिले में तमाम अफसरों को त्योहारों के मद्देनजर आमन व भाईचारा बनाये रखने के लिए जरूरी हर कदम वक़्त रहते उठाने की हिदायत दिये हैं।

एसपी ने कहा है कि फिक्र की कोई बात नहीं है। जिला पुलिस फोर्स के साथ ही इंतिखाबी फोर्स मंगा लिये गये हैं। अमन निजाम के लिए फोर्स का भी इस्तेमाल किया जायेगा। पुलिस ज़राये ने कहा दुर्गापूजा के पंडाल व मुहर्रम के ताजिया जुलूस के लिस लाइसेंस लाज़मी है।

त्योहार के दौरान लाउडस्पीकर बजाने के लिए डिवीज़नल ओहदेदारों की मंजूरी जरूरी है। डीजे व कल्चरल प्रोग्राम पर बैन लगाने के लिए हर तरफ से मांग उठ रही है। पूजा कमेटियों और मुहर्रम कमेटियों के साथ अलग-अलग नीचे से ऊपर की सतह पर बैठकें होंगी। उन तमाम के खालों और सुझावों पर गौर करने के बाद ही कोई फैसला लिया जायेगा।

हर बात की मॉनीटरिंग की जायेगी। एसडीओ की गाइडलाइन में ही कोई कदम उठाया जा सकेगा। मुहर्रम कमेटी व पूजा कमेटी के लाइसेंसधारियों के अलावा 10 लोगों की लिस्ट देनी पड़ेगी। इनकी थानावार मीटिंग की जायेगी। पूजा कमेटियों के लिए रात दस बजे के बाद लाउडस्पीकर बजाने पर बैन रहेगा। दुर्गापूजा के दूसरे दिन यानी दशमी को हर हाल में मूर्ति का विसर्जन करना होगा।

 

Top Stories