पकड़े गए फर्जी लेफ्टीनेंट कर्नल अरविंद मिश्रा की कश्मीरी पत्नी थी ISI जासूस!

पकड़े गए फर्जी लेफ्टीनेंट कर्नल अरविंद मिश्रा की कश्मीरी पत्नी थी ISI जासूस!
Click for full image
Army is walking to square the area.

लेफ्टीनेंट कर्नल की वर्दी पहन कर रौब झाड़ने वाले अरविंद मिश्रा का मामला अब देश की आतंरिक सुरक्षा पर आकर  टिक गया है। गुरुवार को आर्मी इंटेलिजेंस, एटीएस और आईबी ने अरविंद से पांच घंटे तक पूछताछ की जिसमें चौंकाने वाली बातें सामने आईं। पता चला कि अरविंद की कश्मीरी पत्नी हीना जमवाल का ताऊ आईएसआई जासूस था। वह भारतीय सेना में अच्छे पद पर था। सेना की सूचनाएं लीक करने के आरोप में उसका कोर्ट मार्शल हुआ था। यह जानकारी सामने आने पर अब जांच एजेंसियां हीना की तलाश में जम्मू रवाना हो गई हैं।

सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि आर्मी इंटेलिजेंस की सूचना पर हजरतगंज पुलिस व साइबर क्राइम सेल की टीम ने बुधवार सुबह अरविंद मिश्रा को लालबाग से गिरफ्तार किया था। वह खुद को गोरखा रायफल्स में तैनात लेफ्टिनेंट कर्नल बताता था और हर वक्त सेना की वर्दी में घूमता था। पूछताछ में पता चला था कि अरविंद मूल रूप से बहराइच की कानूनगो कालोनी का रहने वाला है। उसके पिता शिक्षा विभाग में बाबू थे। अरविंद पढ़ाई में काफी अच्छा था और सैन्य अधिकारी बनने के लिए सीडीएस की तैयारी कर रहा था।

 

वर्ष 2003 तक परीक्षा में विफल होने के बाद उसने सेना की वर्दी खरीदी और फर्जी लेफ्टिनेंट कर्नल बनकर घूमने लगा। अरविंद के पकड़े जाने के बाद सेना की खुफिया इकाई, एटीएस और आईबी ने हजरतगंज पुलिस से संपर्क किया। जांच एजेंसियों ने गुरुवार को उससे लंबी पूछताछ की। इसके बाद पुलिस ने अरविंद को कोर्ट में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

गोपनीय सूचना लीक करते धरा गया था 

जांच एजेंसी के अधिकारियों ने बताया कि अरविंद से पूछताछ में अहम तथ्य उजागर हुए हैं। पता चला कि हीना का  ताऊ सेना में अधिकारी था। बाद में वह आईएसआई एजेंटों के संपर्क में आ गया और उन्हें सेना की गोपनीय सूचनाएं लीक करने लगा। इसका पता चलने पर सेना ने उसके खिलाफ जांच की थी। सेना की खुफिया विंग ने उसे गोपनीय दस्तावेज लीक करते हुए रंगे हाथ पकड़ा था। बाद में सेना ने उसका कार्ट मार्शल कर दिया था। हीना के ताऊ के पाक जासूस के रूप में पकड़े जाने के बाद जांच एजेंसियों ने परिवार के सभी सदस्यों की निगरानी शुरू कर दी थी।

हनी ट्रैप के तहत तो नहीं की शादी 

आर्मी इंटेलिजेंस की जांच में हीना भी रडार पर आ गई। जांच एजेंसियों को शक है कि हीना भी आईएसआई के संपर्क में है। गौरतलब है कि अरविंद मिश्रा ने खुद को लेफ्टिनेंट कर्नल बताते हुए फेसबुक प्रोफाइल बनाया था। इसमें उसने वर्दी वाली तस्वीरें भी अपलोड की थीं। यह देखकर हीना उसे असली सैन्य अधिकारी समझ बैठी थी। जांच एजेंसियों का मानना है कि अरविंद की फर्जी फेसबुक प्रोफाइल देखने के बाद ही हीना ने उससे चैटिंग शुरू की और बाद में दोनों ने शादी कर ली। संभावना है कि हीना ने अरविंद को हनी ट्रैप में फंसाने के तहत उससे शादी की थी। बाद में अरविंद के ठग होने की सच्चाई का पता चलने पर उसने रिश्ता तोड़ लिया।

हीना को सेना के बेस कैम्प ले जाता था 

अरविंद ने पूछताछ में बताया कि शादी के कई महीने बाद तक हीना उसे असली सैन्य अधिकारी समझती रही। इसके लिए वह उसे सेना के बेस कम्पों में ले जाता था। जांच एजेंसियों को शक है कि इस दौरान हिना कुछ गोपनीय जानकारी जुटाकर आईएसआई को दे सकती है।

Top Stories