Sunday , September 23 2018

पकवान गैस सलिंडर मसला

एलैक्शन कमीशन ने आज मर्कज़ी वज़ीर तेल वीरप्पा मोईली की तरफ से रियायती क़ीमत पर सरबराह किए जाने वाले पकवान गैस सलिंडरस के कोटा में गुजरात चुनाव से पहले इज़ाफ़ा के एलान की सख़्ती से मुख़ालिफ़त की और उन से आइन्दा हालात का जायज़ा लेने की ख़ाह

एलैक्शन कमीशन ने आज मर्कज़ी वज़ीर तेल वीरप्पा मोईली की तरफ से रियायती क़ीमत पर सरबराह किए जाने वाले पकवान गैस सलिंडरस के कोटा में गुजरात चुनाव से पहले इज़ाफ़ा के एलान की सख़्ती से मुख़ालिफ़त की और उन से आइन्दा हालात का जायज़ा लेने की ख़ाहिश की।

कमीशन ने मोईली की इस मसले पर वज़ाहत के बाद फ़ैसला सुनाया कि इन का एलान इंतिख़ाबी ज़ाबता अख़लाक़ की लफ़्ज़ी और माअनवी दोनों एतेबार से ख़िलाफ़वरज़ी है, लेकिन उन्हें सिर्फ़ इंतिबाह दिया जा रहा है। कमीशन ने इस तरह उन की कार्रवाई को सख़्ती से नामंज़ूर करने की उन को इत्तिला देते हुए उन्हें ख़बरदार किया कि वो मुस्तक़बिल का अपने तौर पर जायज़ा लेने एलैक्शन कमीशन के हुक्म नामा में कहा गया हीके मर्कज़ी वज़ीर का बयान कि रियायती क़ीमत पर सरबराह किए जाने वाले पकवान गैस सलिंडरस की तादाद सालाना 6 से 9 की जाती है।

इज़ाफ़ा शूदा रियायत की शक्ल में माली इमदाद के एलान के मुतरादिफ़ है और इस तरह लफ़्ज़ी-ओ-माअनवी दोनों एतेबार से मिसाली ज़ाबता अख़लाक़ की ख़िलाफ़वरज़ी है। एलैक्शन कमीशन ने कहा कि उसे बयान का रियासत गुजरात के राय दहनदों के ज़हन पर असर मुरत्तिब होगा, जहां 13 और 17 दिसमबर को राय दही मुक़र्रर है।

एलैक्शन अथॉरीटी का हुक्म मर्कज़ी वज़ीर तेल के इस बयान के बाद सामने आया, जिस में उन्हों ने रियायती क़ीमत पर सरबराह किए जाने वाले पकवान गैस सलिंडरस की तादाद में इज़ाफ़ा हुकूमत के ज़ेर-ए-ग़ौर होने का एलान किया था।

एलैक्शन कमीशन ने इस एलान पर अपना एक हंगामी मीटिंग मुनाक़िद किया था और गुजरात चुनाव पर इस के मुरत्तिब होने वाले इमकानी असर का जायज़ा लिया था।

एलैक्शन कमीशन ने कहा कि मिसाली ज़ाबता अख़लाक़ के तहत वुज़रा और दुसरे ओहदेदारों को किसी भी नौईयत की माली इमदाद का एलान नहीं करना चाहीए और ना अवाम को किसी किस्म का माली फ़ायदा का तीक़न देना चाहीए।

TOPPOPULARRECENT