Friday , December 15 2017

पटना विश्‍वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा ना मिलने पर छात्रों मे निराशा

पटना। पटना विश्‍वविद्यालय के शताब्‍दी समारोह में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रधानमंत्री से पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय बनाने की मांग की जिस को प्रधानमंत्री द्वारा सीधे तौर पर ना स्वीकारे जाने पर यूनिवर्सिटी के छात्र- छात्राओं निराश नज़र आए।

पटना विश्‍वविद्यालय (पी यू) के शताब्‍दी समारोह में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय बनाने की मांग को लेकर कहा कि सौ साल पहले इंडियन लेजिस्लेटिव काउंसिल (अब संसद) में पारित एक्ट से इस पटना विश्वविद्यालय का गठन हुआ था। मैं संसद में यह मांग कई बार उठा चुका हूं। प्रधानमंत्री से हाथ जोड़कर अपील करते हुए कहा कि अगले  सौ वर्षों तक लोग  नहीं भूलेंगे कि यह मेहरबानी किसने की।

इसके जवाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पटना विश्‍वविद्यालय को केंद्रीय विश्‍वविद्यालय का दर्जा देने के बजाए एक चैलेंज दिया के विश्व के 500 यूनिवर्सिटी मे जगह बनाने के लिए आगे आएं मुख्यमंत्रीस के प्रार्थना को अस्वीकार करते हुए कहा कि हम इस से भी एक कदम आगे ले जाने के प्रयास में हूं और पी.यू को वर्ल्‍ड क्‍लास विश्‍वविद्यालय के रूप में देखना चाहता हूं।

पीएम ने कहा कि देश के 10 यूनिवर्सिटी का चैन होगा जिस मे 5 निजी और 5-“सरकारी यूनिवर्सिटी होंगी जिस के लिए 10-10 हज़ार करोड़ राशि की वायेवस्था सरकार अगले 5 वर्षों मे करेगी।

इस के मूल्यांकन के लिए एक कमेटी गठित होगी। यह कमेटी स्वतंत्र रूप से थर्ड पार्टी एजेंसी के रूप में काम करेगी। इनमें जो सेलेक्शन होगा उसमें पीएम, सीएम या किसी नेता का दखल नहीं होगा। यह सेंट्रल यूनिवर्सिटी से कई गुना आगे की सोच है। मेरी पटना विश्वविद्यालय और इसकी फैकल्टी से अपील है कि वे इसी सपने के साथ आगे बढ़ें।

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राजद अध्‍यक्ष लालू प्रसाद यादव के पुत्र तेजस्वी यादव ने विश्‍वविद्यालय को केंद्रीय विश्‍वविद्यायल का दर्जा ना मिलने पर सीएम नीतीश पर निशाना साधते हुए कहा कि नीतीश चाचा के लिए काफी बुरा महसूस कर रहा हूँ के पीएम मोदी ने चाचा नीतीश को उनकी असली जगह दिखा दी।

TOPPOPULARRECENT