पत्रकार ख़ाशुक़जी हत्या: यूरोपीय संसद में सऊदी अरब पर प्रतिबंध लगाने की मांग उठी

पत्रकार ख़ाशुक़जी हत्या: यूरोपीय संसद में सऊदी अरब पर प्रतिबंध लगाने की मांग उठी
Click for full image

विरोधी पत्रकार जमाल ख़ाशुक़्जी हत्या केस के मामले में यूरोपीय संसद में पास होने वाले प्रस्ताव में सऊदी अरब के विरुद्ध प्रतिबंध लगाने की भी मांग की गयी है।

यूरोपीय संसद के प्रस्ताव में कहा गया है कि जमाल ख़ाशुक़्जी की हत्या में लिप्त समस्त लोगों को यूरोप में प्रवेश पर प्रतिबंध और उनकी संपत्तियां ज़ब्त कर ली जाएं।

इस प्रस्ताव में सऊदी क्राउन प्रिंस को भी जमाल ख़ाशुक़्जी की हत्या का ज़िम्मेदार क़रार देते हुए कहा गय है कि बिन सलमान की जानकारी के बिना सऊदी गुप्तचर विभाग ऐसी कोई कार्यवाही नहीं कर सकता।

इससे पहले यूरोपीय संसद के प्रमुख एटोनियो ताजानी ने भी जमाल ख़ाशुक़्जी की हत्या में लिप्त समस्त लोगों के विरुद्ध मुक़द्दमा चलाए जाने की मांग की थी।

यूरोपीय संसद में 1 के मुक़ाबले 325 वोटों से पास होने वाले इस प्रस्ताव में सऊदी अधिकारियों से मांग की गयी है कि वह जमाल ख़ाशुक़्जी के शव के बारे में सही सूचना दें कि उसको कहां दफ़्न किया गया है।

सऊदी अधिकारियों ने सरकारी तौर पर स्वीकार कर लिया है कि 2 अकतूबर से लापता पत्रकार जमाल ख़ाशुकजी की मौत हो गई है। रियाज़ सरकार ने अपने बयान में दावा किया है कि इस्तांबूल में काउंसलेट की इमारत के भीतर एक दर्जन से अधिक सऊदी अधिकारियों से जमाल ख़ाशुक़जी की लड़ाई हो गई जिसके दौरान ख़ाशुक़जी की मौत हो गई। ख़ाशुक़जी और अधिकारियों के बीच बातचीत के दौरान हाथापायी शुरू हो गई और ख़ाशुक़जी की मौत हो गई।

साभार- ‘parstoday.com’

Top Stories