Wednesday , December 13 2017

पत्रकार हर परिस्थिति का सिर्फ़ काला स्याह देखते हैं- अरुण जेटली

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नोटबंदी के फैसले और उस पर होने वाली रिपोर्टिंग को लेकर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मीडिया और राजनेताओं पर निशाना साधा। वे बीते गुरुवार ‘मेक इन ओडिशा’ कॉन्क्लेव में कहा कि देश के पत्रकार हर परिस्थिति का सिर्फ स्याह पक्ष देखते हुए उन फैसलों से होने वाले सामाजिक व आर्थिक पक्ष पर ध्यान नहीं देते।

साथ ही वे इन फैसलों के लागू होने वाली दिक्कतों पर भी ध्यान नहीं देते। वित्त मंत्री अरुण जेटली नोटबंदी को लेकर जारी संशय को भी खारिज करते है। वे कहते हैं कि बड़े नोटों की बंदी और आगामी 1 अप्रैल से गुड्स एंड सर्विस टैक्स का हटना देशहित में लिया गया बड़ा फैसला है।

यह दोनों फैसले पूरे खेल को बदल कर रख देंगे। ऐसे में इस फैसले के खिलाफ खड़े राज्यों में निवेश की संभावना को धक्का लगेगा। वे 17 सितंबर 2017 तक गुड्स एंड सर्विस टैक्स को लागू करना संवैधानिक अनिवार्यता बताते हैं।

TOPPOPULARRECENT