Wednesday , January 17 2018

पप्पू यादव नज़रबंद, हॉस्पिटल में एडमिट

पटना : जन अधिकार पार्टी (लो) के सरबराह और एमपी राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव को पूर्णिया सदर अस्पताल के आइसीयू में एड्मिट कराया गया है। एमपी के पीआरओ रंजन सिन्हा ने बताया कि सीने में दर्द और लो ब्लड प्रेशर की शिकायत के बाद उन्हें अस्पताल में लाया गया, जहां डॉक्टरों के परामर्श पर उन्‍हें आइसीयू में एड्मिट कराया गया है। पीआरओ रंजन ने कहा कि आज पूर्णिया जिला इंतेजामिया ने पहले उन्हें पूर्णिया में एड्मिट करने से रोका और बेइज़्ज़त किया। हालांकि, एमपी के दबाव में इंतेजामिया ने उन्हें पूर्णिया वाकेय रिहाइशगाह पर जाने की इजाजत दी। लेकिन बाद में उन्हें नजरबंद कर दिया। उन्होंने कहा कि इंतेजामिया की इसी ज़ेहनी इस्तेहाल की वजह से उनकी तबियत बिगड़ गई। डॉक्टर बराबर चेक कर रहे हैं। डॉक्टरों का कहना है कि जरूरत पड़ी तो एमपी पप्पू यादव को दिल्ली भेजा जा सकता है।

मधेपुरा एमपी राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव का इल्ज़ाम है कि पूर्णिया इंतेजामिया ने उन्हें अपने ही घर में नजरबंद कर दिया है। पुलिस ने यह कार्रवाई तब की जब वह वोट देने के लिए मधेपुरा से पूर्णिया आ रहे थे। उन्होंने कहा कि रास्ते में केनगर के बनियापट्टी के पास इंतेजामिया ने उनको रोक कर इलाक़े में घूमने से मना कर दिया और नजरबंद कर दिया है। इंतेजामिया ने जो किया है वह कानून सही नहीं है। इसके लिए एलेक्शन कमीशन को फैक्स भेज दिया गया है और मरकज़ी हुकूमत से खुसुसि सेक्युर्टी की मांग की गई है। यादव ने इमकान जताते हुए कहा कि लालू-नीतीश उनको मरवाना चाहते हैं। यह मामला लोकसभा में भी उठाया जाएगा। इधर, एडिशनल चीफ़ एलेक्शन ओहदेदार आर लक्ष्मणन ने बताया कि एमपी पप्पू यादव पूर्णिया के वोटर हैं, ऐसे में उन्हें वोटिंग की तारीख को पूर्णिया में ही रहने की सलाह दी गई है।

 

TOPPOPULARRECENT