Monday , December 11 2017

पशु तलाशी के नाम पर अजमेर शरीफ से लौट रहे लोगों को पीटे जाने के बाद संभल में बवाल

अजमेर थाना क्षेत्र के कमालपुर जायरीनों को पीटने का मामला सामने आया है। स्थानीय मीडिया की खबरों के मुताबिक चार जायरीनों को बंधक बना लिया। बंधकों को छुड़ाने के लिए मौके पर पहुंची पुलिस पर लोग हमलावर हो गए। घटना की प्रतिक्रिया में संभल की चौधरी सराय पुलिस चौकी के सामने जायरीनों ने संभल के लोगों के साथ जाम लगा दिया। आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। पुलिस ने नारेबाजी करने वाले लोगों को खदेड़ा तो लोगों ने पथराव के बाद फायरिंग शुरू कर दी। लगभग आधा घंटे तक पथराव व फायरिंग हुई। इसमें सीओ समेत पांच पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।
क्या था मामला
कुंदरकी के 80 से अधिक लोग सोमवार को अजमेर शरीफ गए थे। यह लोग कटेंनर से बुधवार को शाम अजमेर से लौट रहे थे। जैसे ही कंटेनर रजपुरा थाना क्षेत्र के कमालपुर में पहुंचा तो वहां पर कुछ लगों ने पहले से ही रोड पर बैलगाड़ियां खड़ी करके अवरोध लगा दिया था। कंटेनर में पशु होने की बात करने लगे लेकिन जब कंटेनर की तलाशी ली तो उसमें महिलाएं और बच्चे थे। बाद में भीड़ ने कंटेनर पर पत्थर मारना शुरु कर दिया। इसके बाद ड्राइवर को खींच कर पीटा गया।

आनन-फानन में एक जायरीन ने जायरीनों को सुरक्षित निकालने के लिए कंटेनर को लेकर संभल की ओर भगा ले गया। जबकि शकील, तजम्मुल, मन्नान, गुफरान वहीं छूट गए। इनको बंधक बना लिया।

करेंटर में बैठे लोगों ने पुलिस को सूचना दे दी। उधर कुंदरकी के लोगों ने घटना की जानकारी संभल के लोगों को फोन पर दी। जानकारी मिलते ही संभल के लोगों ने जायरीनों के आने का इंतजार चौधरी पुलिस चौकी के सामने किया। जब कंटेनर में महिलाओं और बच्चों की हालत देखी तो मारपीट का मंजर सुना तो लोग भड़क गए। जाम लगा दिया। सूचना पर एएसपी राम मूरत यादव, कोतवाल सुरेंद्र सिंह यादव, एसडीएम अखिलेश यादव, एडीएम आरपी सिंह यादव मौके पर पहुंच गए। उधर रजपुरा पुलिस ने बंधकों को छुड़ाया।

लोगों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। पुलिस ने लोगों को समझा बुझाकर शांत किया था कि कुछ लोगों से सीओ की नोकझोंक हो गई। कुछ लोगों पथराव शुरू कर दिया। पथराव के बाद अवैध शस्त्रों से कुछ लोगों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। लगभग आधा घंटे तक पथराव और फायरिंग होती रही। पुलिसकर्मी अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागे। पत्थर लगने से दारोगा सोनूनाथ और राजपाल सिंह, तीन सिपाही और सीओ अफसर अब्बास जैदी समेत कुल 12 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। जिन्हें अस्पताल लाया गया है। वहीं बंधक बनाए गए चार जायरीनों समेत कुल छह जायरीनों को भी उपचार के लिए जिला अस्पताल संभल लाया गया है।

जायरीनों के इस तरह पीटे जाने के विरोध में संभल में तनाव का माहौल पसरा है। लोगों ने पुलिस उन्हें यह कहते हुए समझा रही थी कि रिपोर्ट दर्ज की जा रही है। आरोपियों को पकड़ा जाएगा। फिलहाल खबर लिखे जाने तक अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

TOPPOPULARRECENT